सिद्धार्थनगर: रेल विभाग की उदासीनता के कारण यात्रियों को सुविधा के लिए अभी भी बढ़नी स्टेशन के बाहर जाना पड़ रहा है। क्योंकि यहां एक करोड़ के ऊपर की लागत से बने मल्टीफंक्शनल कांप्लेक्स (एमएफसी) के संचालन में कोई भी रुचि नहीं ली जा रही है। एमएफसी भवन वर्षों से धूल फांक रहा है। यात्री सुविधाओं के लिए किए गए बड़े-बड़े वादे अब झूठे लगने लगे हैं।

सांसद जगदंबिका पाल के प्रयास से 2014 में तत्कालीन रेलमंत्री मल्लिकार्जुन खड़गे ने गोरखपुर-गोंडा रेल खंड के बढ़नी रेलवे स्टेशन पर एक करोड़ सात लाख की लागत से मल्टीफंक्शन कांप्लेक्स का शिलान्यास किया था। स्टेशन के निकट एक ही छत के नीचे कई सुविधाएं मुहैया कराने का वादा भी किया गया। 2016 में कांप्लेक्स बनकर तैयार हो गया। इसमें पांच कमरे एक हाल, शौचालय, स्नानघर, फूड स्टाल, रेस्त्रां, बुक स्टाल, एटीएम, मेडिसिन, पार्किंग स्पेस आदि की व्यवस्था की गई, लेकिन संचालन न होने से भवन जर्जर होता जा रहा है। ऐसा नहीं है कि रेलवे द्वारा निविदा नहीं निकाला गया। कांप्लेक्स बनने के बाद ही जून 2016 में रेलवे के द्वारा निविदा निकाला गया था। कितु शुरुआती रेट बहुत अधिक होने के कारण किसी के द्वारा निविदा नहीं डाला गया। इसके बाद आईआरसीटीसी के अधिकारियों ने बढ़नी में व्यापारियों के साथ बैठक की गई। बैठक में भी रेट को लेकर बात नहीं बन सकी। तब से लेकर आज तक रेलवे के द्वारा कोई निविदा नहीं निकाली गई। कुछ इच्छुक लोगों ने लखनऊ व अन्य जगह संपर्क कर निविदा निकालने की बात भी कही। तब भी रेलवे की तरफ से इसको लेकर उदासीनता ही बरती जा रही है। नेपाल के सांसद अभिषेक प्रताप शाह, कृष्णानगर के मेयर रजत शाह ,भाजपा नेता राजू शाही, सुनील अग्रहरी, संजय जयसवाल, राजकुमार अग्रहरि आदि ने कांप्लेक्स को जल्द से जल्द चालू कराने की मांग की है। उच्च अधिकारियों से बात किए बिना कांप्लेक्स को चालू कराने के संबंध में कुछ बता पाना संभव नहीं है।

महेश गुप्ता, जनसंपर्क अधिकारी पूर्वोत्तर रेलवे बढ़नी में मल्टीफंक्शनल मेरे प्रयास से बना था। इसका संचालन रेल अधिकारियों को कराना चाहिए। इसके लिए रेल मंत्री से वार्ता करुंगा और यथाशीघ्र इसके संचालन की व्यवस्था कराई जाएगी।

जगदंबिका पाल, सांसद डुमरियागंज

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप