सिद्धार्थनगर: समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय पर प्रखर समाजवादी चितक तथा विचारक मोहन सिंह जी की पुण्यतिथि समाजवादी पार्टी कार्यालय पर मनाई गई। सिंह के विचारों को आत्मसात करने का संकल्प लिया गया। जिलाध्यक्ष लालजी यादव व पूर्व विजय पासवान ने चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें याद किया।

जिलाध्यक्ष यादव ने कहा कि मोहन सिंह का पूरा जीवन गरीबों शोषितो वंचितों मजदूरों तथा किसानों के लिए समर्पित रहा। वह समाज के गैर बराबरी के विरुद्ध आजीवन संघर्ष करते रहे। बेरोजगारों नौजवानों छात्रों की आवाज को हमेशा बुलंद करते रहे। उनका पूरा जीवन समाज के लिए समर्पित रहा। आज वह हमारे बीच में नहीं हैं। लेकिन उनके विचार आज भी प्रासंगिक हैं। वह अपने विचारों सिद्धांतों संघर्षों संवेदनशीलता तथा बेबाक वक्ता के रूप में सदैव अमर रहेंगे। पूर्व विधायक विजय पासवान, जिला महासचिव कमरुज्जमा खान, अब्दुल कलाम सिद्दीकी, शैलेंद्र शर्मा, नन्हे दुबे आदि मौजूद रहे। संघर्षों से भरा रहा मोहन सिंह का जीवन

सिद्धार्थनगर: प्रख्यात समाजवादी चितक मोहन सिंह का जीवन संघर्षों से भरा रहा है। हर एक समाजवादी को उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए।

यह बातें युवजन सभा के जिला महासचिव राकेश दूबे ने कही। वह बुधवार को समाजवादी अध्ययन केंद्र के बृजभूषण तिवारी सभागार में मोहन सिंह की आठवीं पुण्यतिथि पर आयोजित विचार गोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। कहा कि डा. लोहिया से लेकर सपा मुखिया अखिलेश यादव तक के समाजवादी आंदोलनों में मोहन सिंह ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। यूथ ब्रिगेड जिला महासचिव अमित यादव ने कहा कि वह इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ के अध्यक्ष भी रहे। उन्होंने छात्रों एवं युवा आंदोलनों का भी नेतृत्व किया तथा आपातकाल के खिलाफ आवाज उठाने के कारण जेल भी गए। मोहन सिंह ने देवरिया का लोकसभा में प्रतिनिधित्व किया था और वह उत्तर प्रदेश विधानसभा के सदस्य एवं मंत्री रहे थे। अमरेंद्र पांडेय, अंश सिंह राजपूत, राजेश गुप्ता, रामशंकर, दीपू श्रीवास्तव, गौतम मिश्र सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran