कैचवर्ड- निर्देश

क्रासर-

जांच में बीडीओ व बीईओ करेंगे सहयोग

जांच के बाद शासन को सौंपी जाएगी रिपोर्ट

जागरण संवाददाता, सिद्धार्थनगर : मदरसा आधुनिकीकरण योजनान्तर्गत आच्छादित जनपद के 307 मदरसों की जांच के लिए चार जिला स्तरीय अफसरों को ब्लाक आवंटित किया गया है। इनके सहयोग में संबंधित विकास क्षेत्र के खंड विकास अधिकारी व खंड शिक्षा अधिकारी सहयोग करेंगे। जांच रिपोर्ट सप्ताह भीतर सौंपने का निर्देश दिया गया है।

मदरसा आधुनिकीकरण (एसपीक्यूईएस) योजनान्तर्गत आच्छादित जिले 307 मदरसों की जांच के लिए जिलाधिकारी ने चार जिला स्तरीय अफसरों को ब्लाक आवंटन करते हुए सप्ताह भीतर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है। नौगढ़, बर्डपुर, लोटन व उस्का बाजार ब्लाक के मदरसों की जांच जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी, शोहरतगढ़, जोगिया, बांसी, खेसरहा ब्लाक में जिला समाज कल्याण अधिकारी, इटवा, खुनियांव व बढ़नी में जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी, मिठवल, डुमरियागंज व भनवापुर में जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी को जिम्मा मिला है। इनका सहयोग ब्लाक से संबंधित खंड विकास अधिकारी व खंड शिक्षा अधिकारी करेंगे।

जांच के दौरान मदरसे की नाम, मान्यता की तिथि, मान्यता का स्तर, आधुनिकीकरण योजना में लिए जाने का वर्ष, लाट संख्या, सोसाइटी का नाम, पंजीकरण संख्या, तिथि, यू-डायस कोड, भवन का विवरण के तहत मदरसा किस भूमि पर स्थित है। निजी अथवा किराए पर, गाटा संख्या, खसरा संख्या, राजस्व ग्राम, पंचायत, कक्षों की माप समेत तहतानिया कक्षा एक से पांच तक, फौकानिया कक्षा छह से कक्षा आठ तक, मुंशी, मौलवी, शिक्षकों के विवरण में नाम, जन्म तिथि, आधुनिकीकरण का विषय जिसके लिए नियुक्ति हुई, नियुक्ति तिथि, शैक्षिक योग्यता की जानकारी के साथ ही मदरसा भारत सरकार की गाइड लाइन 29 अक्टूबर के अनुसार मानक पूर्ण है अथवा नहीं जैसे ¨बदु पर भी छानबीन कर तय प्रारूप पर अंकन किया जाएगा। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी आशुतोष पांडेय ने बताया कि जांच प्रारंभ कर दी गई है। जांच पूरी होने के बाद रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी।

...............

आनलाइन डाटा अपलोड में शिथिलता उजागर

जिले के अनुदानित, गैर अनुदानित अरबी फारसी मान्यता प्राप्त 600 मदरसों को नवीन मदरसा पोर्टल पर आनलाइन डाटा अपलोड किए जाने में शिथिलता बरती जा रही है। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी की ओर से प्रबंधकों व प्रधानाचार्यों को भेजे पत्र में लिखा है कि 15 सितंबर के पूर्व वांछित सूचनाएं मदरसा पोर्टल के वेबसाइट पर अनिवार्य रूप से अपलोड करना है। इसके बाद कोई अवसर नहीं दिया जाएगा और संबंधित पर कार्रवाई की संस्तुति कर दी जाएगी।

.........

दो सौ मदरसों ने ही उपलब्ध कराई सीडी

स्वाधीनता दिवस के उपलक्ष्य में मदरसों में ध्वजारोहण समेत विविध कार्यक्रमों की सीडी उपलब्ध कराने के लिए कड़े निर्देश दिए गए थे। इसके बावजूद जनपद के 600 मदरसों में से अब तक सिर्फ दो सौ ने ही उपलब्ध कराया है। शेष चार सौ कब देंगे, विभाग मौन साधे हुए है। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी ने बताया कि इसके लिए प्रबंधकों व प्रधानाचार्यों को पुन: हिदायत दी गई है। जल्द ही सीडी उपलब्ध हो जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस