सिद्धार्थनगर : पांच दिन पूर्व जिले एक युवक को बिजली के खंभे से बांधकर पीटने का मामला सुर्खियों में रहा। अभी यह मामला ठंडा भी न पड़ा था कि बुधवार को एक और मामला प्रकाश में आ गया। पत्नी से मिलने गए पति को गांव के कुछ व्यक्तियों ने बेरहमी से पीटा और उसका वीडियो भी वायरल कर दिया। पुलिस ने आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। पीड़ित के ससुर ने आरोप लगाया कि वह अब उसे धमकी भी दे रहे हैं।

बुधवार को अपर पुलिस अधीक्षक मुन्नालाल ¨सह से मिलकर पीड़ित के ससुर ने आरोप लगाया कि दामाद उसकी बेटी से मिलने आया था। इस दौरान गांव के कुछ व्यक्तियों ने उसके दामाद को मारापीटा और उसे बेटी के साथ अभद्रता की। इसका वीडियो भी बनाया। इसे सोशल मीडिया पर डाल दिया। उसने मिश्रौलिया थाने पर इसकी तहरीर दी तो गत सात सितंबर को पुलिस संजय पुत्र हरबंश, प्रीतम पुत्र बांकेलाल सहित चार व्यक्तियों के विरुद्ध धारा 343, 354सी, 294, 323, 504, 506, 67सी आइपीसी के तहत मुकदमा पंजीकृत किया। युवती के पिता ने आरोप लगाया कि मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं कर रही है। मिश्रौलिया थानाध्यक्ष मनोज ¨सह का कहना है कि आरोपितों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर विवेचना की जा रही है। आरोपित फरार हो गए हैं।

---

अश्लील फोटो बना किया वायरल, मुकदमा दर्ज

भवानीगंज : थाना क्षेत्र के व्यक्ति ने आरोप लगाया है कि उसकी बेटी का मोबाइल नंबर कहीं से परवेज अहमद निवासी तिलगड़िया खुर्द थाना डुमरियागंज पा गया। अलग-अलग नंबर से फोन करने लगा। बेटी के मना करने पर उसकी फोटो मोबाइल अथवा वीडियोका¨लग के द्वारा बना लिया। पिछले तीन-चार महीने से वह बराबर फोन पर अश्लील बाते करने व ब्लैकमेल करने का प्रयास करता रहा। ट्रिक फोटो बना उसको ब्लैक मेल करने के उद्देश्य से उसने सारे फोटो वाट्सअप और फेसबुक पर अपलोड कर दिया। मेरी लड़की संकोचवश लोक-लाज के कारण अपने साथ हो रही घटना को घर नहीं बताई और हमेशा गुमसुम रहने लगी, पूछने पर आप बीती बता कर रोने लगी। जब हम लोग लड़के को फोन पर समझाने का प्रयास किए तो वह गाली गलौज देने लगा। इस संबंध में डुमरियागंज थाने में शिकायत भी किया गया, पुलिस आरोपी के घर गई तो पता चला कि परवेज कुछ दिन पहले ही मुंबई चला गया है। पुलिस के घर आने की सूचना पर आरोपी परवेज लड़की को फोन पर गाली व धमकी देने लगा। परवेज ने लड़की का नंबर कई लोगों को बांट दिया, जिस पर अन्य लोग भी फोन करने लगे। थानाध्यक्ष हरेन्द्र पाठक ने बताया कि तहरीर मिली है। धारा 354 आईपीसी, 67 आइटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर छानबीन की जा रही है।

---

घटना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। आरोपितों की तलाश जारी है। जल्द ही उनकी गिरफ्तारी होगी।

मुन्नालाल ¨सह

अपर पुलिस अधीक्षक

Posted By: Jagran