सिद्धार्थनगर, जेएनएन। कोविड-19 की रोकथाम से संबंधित टीकाकरण की तैयारियां शुरू हो गई है। जनपद में टीका (वैक्सीन) आने के बाद सबसे पहले सरकारी और निजी अस्पतालों में कार्यरत स्वास्थ्यकर्मियों को लगाया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए अस्पतालों में कार्यरत स्टाफ की सूची तैयार करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। प्रदेश के चिकित्सा-स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों व सीएमओ को पत्र भी भेजा है। पत्र में कहा गया है कि सरकारी और निजी अस्पतालों में कार्यरत समस्त स्वास्थ्य कर्मियों का डेटा बेस तैयार कर लिया जाय। जिससे प्रथम चरण में इनका टीकाकरण कराया जा सके।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ इंद्र विजय सिंह ने बताया कि शासन और जिलाधिकारी से प्राप्त दिशा-निर्देशों के अनुसार जनपद में कार्यरत समस्त मेडिकल, पैरामेडिकल एवं नान मेडिकल स्टाफ को सूचीबद्ध किया जाना है। इस सूची में नियमित कर्मचारियों के अलावा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के संविदा और आउटसोर्सिंग के कर्मचारी भी शामिल होंगे। जिले में क्रियाशील राज्य और मंडल स्तरीय कार्यालयों में कार्यरत विभागीय कर्मचारियों, सरकारी एवं निजी मेडिकल कालेज, पैरामेडिकल कालेज के शैक्षणिक, गैर शैक्षणिक स्टाफ, विद्यार्थियों और निजी अस्पतालों के समस्त स्टाफ को सूचीबद्ध किया जाएगा। जनपद के केंद्रीय स्वास्थ्य संगठनों को इस सूची से बाहर रखा गया है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डाक्टर सौरभ चतुर्वेदी की देखरेख में सूची तैयार होगी।

..............

सीवीबीएमएस पर अपडेट होगा समस्त डाटा

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डाक्टर सौरभ चतुर्वेदी ने बताया कि संकलित की गई सूची को कोविड वैक्सीनेसन बेनिफिशियरी मैनेजमेंट सिस्टम (सीवीबीएमएस) पर अपडेट किया जाएगा। वैक्सीन उपलब्ध हो जाने पर सूची के अनुसार टीकाकरण किया जाएगा। जनपद के वैक्सीन स्टोर की क्षमता भी बढ़ाई जा रही है ताकि भंडारण की समस्या न हो।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस