सिद्धार्थनगर : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेंवा में टाइप टू आवास जो कि चिकित्साधिकारी के लिए आरक्षित हैं, उस पर संविदा कर्मी कब्जा जमाए हुए हैं। आवास के अभाव में चिकित्सक यहां रात्रि निवास नहीं करते है। ऐसे में रात्रिकालीन इमरजेंसी सेवा पर असर पड़ता है। रात्रिकालीन इमरजेंसी सेवा में ड्यूटी करने वाले डाक्टरों को परेशानी झेलनी पड़ती है।

सीएचसी बेवां में कर्मचारियों व चिकित्सक आवास का टोटा है। टाइप टू का तीन आवास है, जो चिकित्सकों को मिलने चाहिए। इन पर संविदा पर तैनात स्टाफ नर्स लंबे समय से कब्जा जमाए बैठी हैं। रात के समय अगर चिकित्सक से परामर्श लेना हो तो यह संभव नहीं हो पाता। वहीं इमरजेंसी ड्यूटी बजाने वाले चिकित्सक को भी खाली वक्त में आराम नहीं मिलता। सीएचसी अधीक्षक डा. बीएन चतुर्वेदी ने कहा कि संविदा कर्मियों को 15 दिन के भीतर आवास खाली करने के आदेश दिए गए हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस