सिद्धार्थनगर : अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर सोमवार को जनपद में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए गए। छात्राओं को महिला उत्पीड़न से संबंधित कानून की जानकारी दी। लिग आधारित हिसा, लिग के आधार पर भेदभाव, समाज में असमानता, बाल विवाह, दहेज प्रथा जैसी कुप्रथा पर जागरूक किया गया।सामाजिक कुरीतियों को दूर करने का संकल्प लिया।

डा. राम मनोहर लोहिया पीजी कालेज में मिशन शक्ति कार्यक्रम हुआ। मुख्य अतिथि अनिल रस्तोगी ने कहा कि समाज में कई ऐसे बिदु हैं, जिस पर आवाज उठाने की आवश्यकता हैं। बाल विवाह और दहेज प्रथा दोनों अपराध है। इसके लिए कानून बनाए गए हैं। इसकी रोकथाम में सभी वर्ग को सहयोग करना होगा। महिलाएं कई क्षेत्र में समाज व देश का नाम रोशन कर रही हैं, इन्हें किसी भी स्थिति में कमजोर नहीं समझना चाहिए। जिला समन्वयक महिला कल्याण अल्पना विश्वास ने कहा कि सरकार ने महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए कार्यक्रम व योजनाएं संचालित की है। प्राचार्य डा. अष्टभुजा पांडेय ने कहा कि छात्राओं में जागरूकता लाने की जरूरत है। संचालन डा. पवन पांडेय ने किया। एसओ इटवा ज्ञानेंद्र कुमार राय, डा. नूरुल हसन, दिव्या मिश्रा, दीप्ति अग्रहरि, शीतल सोनी, अंकिता पांडेय, संजना सोनी, पूजा, जया, आकांक्षा साहू, प्रियांशी दुबे, रूपाली श्रीवास्तव, प्रियंका सिंह, प्रीति तिवारी, विभा मिश्रा, उन्नति सिंह आदि मौजूद रहे। कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय धेंसा नानकार में मिशन शक्ति कार्यक्रम का आयोजन हुआ। वार्डेन गीता यादव ने छात्राओं को मौलिक अधिकार, घरेलू हिसा, पोषण स्वास्थ्य एवं सुरक्षा, लैंगिक समानता के अलावा हेल्पलाइन नंबरों के संबंध में जानकारी दी। स्वास्थ्य केंद्र धेन्सा की सीएचओ आरती ने छात्राओं को राष्ट्रीय बालिका दिवस के महत्व को बताया। उनके अधिकारों के प्रति जागरूक रहने के लिए प्रेरित किया। बालिकाओं ने विभिन्न कलाकृति के अलावा रस्साकसी, बैडमिटन, साइकिल रेस आदि खेल प्रतियोगिता हुई। सीमा, सुशीला, अंकिता, नीतू, सुमन, पूनम, नीलम, आस्था, रेहाना आदि मौजूद रहे। भवानीगंज के मौलाना आजाद पीजी कालेज बायताल कादिराबाद में संगोष्ठी हुई। प्राचार्य डा. अखलाक हुसैन ने अध्यक्षता किया। कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में समय-समय पर बालिकाओं को जागरूक करने की आवश्यकता है। विधि सप्रवीक्षा अधिकारी अजीत कुमार दुबे ने कहा मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, बाल सेवा योजना, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, वन स्टाप सेंटर, घरेलू हिसा, कन्या भ्रूण हत्या आदि के संबंध में सभी को जानकारी होनी चाहिए। इन योजनाओं में अभिभावकों की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है। प्रवक्ता फैजान अहमद, फरीद अहमद, गुलाम रशीद रशीदी, मोहम्मद सईद, राजेश कुमार वर्मा, पंकज शुक्ला, उत्पल चौधरी, अजमल अली, काजी महमूद अहमद, अशोक कुमार मिश्रा, सुनीता, अनुराधा, आकांक्षा, खुशी विश्वकर्मा, मरहबा खातून आदि मौजूद रहे। बालिका दिवस पर विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन सिद्धार्थनगर: शिवपति स्नातकोत्तर महाविद्यालय में सोमवार को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। महिलाओं के सशक्तीकरण, अधिकार, कर्तव्य, शिक्षा का अधिकार, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के बारे में जागरूक किया गया।

मुख्य अतिथि जिला सचिव विधिक सेवा प्राधिकरण चन्द्र मणि ने कहा कि आज लड़कियां हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं। परंतु वह अनेक कुरीतियों का आज भी शिकार हैं। पढ़े लिखे लोग और जागरूक समाज भी इस समस्या से अछूता नहीं है। कुरीतियों से समाज को निकलना होगा।

तहसीलदार धर्मवीर भारती ने कहा कि सरकार नारी सशक्तीकरण में विभिन्न प्रकार की योजना चला कर जागरूक कर रही है। कार्यक्रम को प्राचार्य डा. अरविद कुमार सिंह, एके सिंह, एसआई रविकांत मणि त्रिपाठी ने संबोधित किया। इस दौरान आरके सिंह, ज्योति सिंह, डाक्टर धर्मेन्द्र सिंह, अनुपम त्रिपाठी, अखिलेश शर्मा, प्रतीक मिश्रा आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran