सिद्धार्थनगर: अनुसूचित जाति जनजाति के छात्रवृत्ति के प्रारुप में केंद्र सरकार ने बदलाव कर दिया है। नए नियमों के तहत छात्रवृत्ति पाने के लिए किए गए आवेदन में बदलाव किया जाना है। सिद्धार्थ विश्वविद्यालय कपिलवस्तु सिद्धार्थनगर से संबंधित समस्त महाविद्यालयों के प्रबंधक एवं प्राचार्य छात्रवृत्ति आवेदन समय से पूर्ण कराएं। अन्यथा छात्रवृत्ति आवेदन पत्र निरस्त होने पर महाविद्यालय स्वयं उत्तरदायी होगा । उक्त जानकारी कुलसचिव यूपी ¨सह ने दी। उन्होनें बताया कि बदलाव की जानकारी विश्वविद्यालय की बेवसाइट पर उपलब्ध है। इसे कभी भी देखा जा सकता है।

Edited By: Jagran