मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

सिद्धार्थनगर: बुधवार की दोपहर करीब 12 बजे आंधी के साथ बारिश भी हुई। कई स्थानों पर पेड़ व उसकी डालियां टूट कर गिरी। कई छप्पर के मकान भी उड़ गए। शहर की सड़कों पर तालाब जैसा नजारा दिखाई दिया। बांसी स्टैंड तिराहा से भीमापार रेलवे क्रासिग के बीच कई स्थानों पर सड़क गड्ढे में तब्दील नजर आई।

दोपहर में कुछ ही देर की बारिश ने शहर का मिजाज बदल दिया। नालियों की सफाई न होने व सड़कों के टूटे होने से उसमें पानी भर गया। राहगीरों का पैदल चलना मुश्किल हो गया। एनएच 233 नौगढ़-बांसी मार्ग पर भीमापार तक कई स्थानों पर पानी व कीचड़ मय हो गया। नौगढ़-गोरखपुर मार्ग पर केनरा बैंक के पहले जल-जमाव हो गया। सड़क पर पानी जमा होने के कारण वाहनों के आने-जाने से छींटा पड़ने से लोगों के कपड़े व जूता,चप्पल खराब हुए। सबसे ज्यादा दिक्कत पैदल चलने वालों को हुई। वह कीचड़ व गंदा पानी के छीटों से बचते नजर आए। दोनों सड़कों पर भीड़ अधिक होने के कारण अधिकांश लोगों को इसका शिकार होना पड़ा। दो पहिया वाहन चालक भी अगल-बगल रास्ता देख बचते नजर आए।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप