जमुनहा(श्रावस्ती): कानून व्यवस्था बनाए रखने तथा पीड़ितों को तत्काल न्याय दिलाने के लिए शुरू की गई डॉयल यूपी-100 परियोजना का भी दुरुपयोग करने से लोग बाज नहीं आ रहे हैं। सोनवा क्षेत्र के ग्राम दूबकला गाव में बुधवार की रात पारिवारिक विवाद की सूचना यूपी-100 पर फोन कर दी गई। इसमें विपक्षी पर मकान जला देने तथा पत्‍‌नी की पीट-पीटकर हत्या कर देने का आरोप लगाए गए। पुलिस व फायर टीम के साथ अधिकारी भी मौके पर पहुंचने लगे। पड़ताल में मामला फर्जी पाया गया।

सोनवा थाना क्षेत्र के ग्राम दूबकला निवासी बुरादे के पिता अमीन ने अपने बड़े बेटे को जमीन की रजिस्ट्री कर दी थी। इसी के चलते दोनों भाइयों में विवाद हुआ था। मामले को गंभीर बनाने के लिए बुरादे ने यूपी-100 पर फोन किया। यहां उसने बताया कि कुछ लोग ने उसके घर को जला दिया है तथा उसको और उसकी पत्‍‌नी को मारपीट कर घायल कर दिया है। पत्‍‌नी की मौत होने वाली है। मामले की गंभीरता को देखते हुए यूपी-100 पुलिस के अलावा थानाध्यक्ष मुहम्मद यासीन खान भी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। आनन-फानन में दमकल कर्मियों की टीम गांव पहुंच गई। उच्चाधिकारी भी गांव की ओर रवाना हो चुके थे। मौके पर पहुंची पुलिस ने पड़ताल की तो मामला कुछ और निकला। पुलिस ने दोनों पक्षों को थाने ले आई। मुकदमा दर्ज कर मामले की जाच की जा रही है।

-------------

फर्जी सूचना दी तो मिलेगा दंड

श्रावस्ती: पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने बताया कि किसी भी घटना को बढ़ा-चढ़ाकर प्रस्तुत करने से स्थिति काफी तनावपूर्ण हो जाती है। कई बार फोर्स किसी आवश्यक काम में लगी होती है। ऐसे में गंभीर अपराध की सूचना मिलने पर उसे मजबूरन संबंधित क्षेत्र में रवाना करना पड़ता है। पीड़ितों को तत्काल न्याय मिल सके, इसके लिए शासन ने यूपी-100 परियोजना शुरू की है। इसका दुरुपयोग करने की कोशिश की गई तो संबंधित के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran