श्रावस्ती : पेट्रो पदार्थो की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि, ध्वस्त कानून व्यवस्था, महिला उत्पीड़न, महंगाई व बिजली की बदहाली समेत विभिन्न समस्याओं पर कांग्रेस के बंद के आह्वान का जिले में मिला जुला असर रहा। इस दौराना बाजार पूरी तरह से खुले रहे। जिला मुख्यालय सहित इकौना में कांग्रेसियों और सपाईयों ने हंगामी प्रदर्शन कर सरकार की नीतियों पर प्रहार किया।

जिला मुख्यालय पर डीजल, पेट्रोल व रसोई गैस के मूल्यों में बेतहासा हो रही वृद्धि व महिलाओं पर अत्याचार के विरुद्ध जिला काग्रेस कमेटी द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। इसमें राष्ट्रीय लोकदल ने भी हिस्सा लिया। कांग्रेस के प्रदेश सचिव भगत राम मिश्र ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार पूरी तरह फेल साबित हुई है। प्रदर्शन के बाद राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एसडीएम शिपू गिरि को सौंपा गया। इस दौरान इकबाल अहमद, मोहम्मद असलम, अमन पाडेय, सूर्य प्रकाश जायसवाल, धनंजय शुक्ल, राजेश तिवारी, रालोद जिलाध्यक्ष राजकुमार ओझा आदि मौजूद रहे।

सपा कार्यकर्ताओं ने पार्टी कार्यालय से जुलूस निकाला। ईदगाह तिराहे पर पहुंच कर कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए जमकर प्रदर्शन किया। एसडीएम शिपू गिरि को राज्यपाल को संबोधित 18 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा गया। इस मौके पर पूर्व विधायक इंद्राणी वर्मा, राजेश यादव, शशि प्रताप सिंह, अजय यादव, अशरफ खान, सौरभ यादव, सत्यपाल वर्मा, बंशीलाल यादव, नन्हें यादव, रामकुमार यादव आदि मौजूद रहे।

इकौना : पूर्व विधायक व सपा नेता मो. रमजान व पूर्व जिलाध्यक्ष महमूद आलम नईमी के नेतृत्व में सपा कार्यकर्ताओं ने जुलूस निकाल कर प्रदर्शन किया। बौद्ध परिपथ पर सपाईयों ने सड़क जाम कर प्रदेश सरकार पर हमला बोला। कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन एसडीएम दिनेश मिश्र को सौंपा। प्रदर्शन में रामकुमार शुक्ल, सभासद अर्जुन, डीसी यादव, विश्वजीत यादव, सतीश यादव, छेदी राम यादव, अमित कसौधन, बृजेश सिंह यादव आदि शामिल हुए।

इसके अलावा कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष हाजी अब्दुल लतीफ व नसीम चौधरी के नेतृत्व मे काग्रेस कार्यकर्ताओं ने नुक्कड़ सभाएं कर केंद्र व प्रदेश सरकार की नीतियों पर हमला बोला। इस मौके पर रजीउल्ला चौधरी, नसीम चौधरी, संजीव नैयर, विद्यामणि त्रिपाठी, हनीफ चौधरी, शशिकात, बृज किशोर शुक्ल आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran