मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संसू, जमुनहा(श्रावस्ती): हरदत्तनगर गिरंट वन क्षेत्र के सुजानडीह जंगल मे स्थित नर्सरी पर भारी मात्रा में वेशकीमती साखू के बोटे डंप है। इन बोटों पर कोई नंबर भी अंकित नहीं है। इसको लेकर क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं।

वन क्षेत्र में लकड़ी काटने का काम वन निगम का होता है। निगम की ओर से की जाने वाली कटान के बाद सभी बोटों पर नंबर डाला जाता है। इसी नंबर से बोटों की सरकारी होने की पहचान तथा गणना होती है। हरदत्तनगर गिरंट वन क्षेत्र के सुजानडीह जंगल की नर्सरी में भारी मात्रा में बिना किसी नंबर के साखू के बोटे पड़े हैं। स्थानीय लोगों की मानें तो विभाग के लोगों ने चोरी-छिपे पेड़ कटवाकर लकड़ी यहां डंप की है। सूत्रों की माने तो इसके लिए भी खेल चल रहा है। वनर्किमयों की मिलीभगत से वनमफिया साखू पेड़ो की जड़ो को छील कर पतला कर देते हैं। इसके बाद पेड़ कमजोर होकर गिर जाते हैं। इस लकड़ी का बोटा बनाकर बंदरबांट कर लिया जाता है। वन क्षेत्राधिकारी दुर्गा प्रसाद साहू ने बताया कि जो पेड़ गिर गए थे। उन्हें काट कर लकड़ी सुरक्षित कर ली गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप