संसू, श्रावस्ती : भिनगा कोतवाली क्षेत्र के टंडवा बनकटवा गांव में समुदाय विशेष के दबंगों ने किशोरी से छेड़छाड़ किया। इसका विरोध करने पर भड़के आरोपितों ने बवाल शुरू कर दिया है। घरों में घुस कर लाठी-डंडा व धारदार हथियार से हत्या का प्रयास किया। इस बवाल में आठ लोग घायल हुए हैं। इनमें से दो की हालत गंभीर बताई जाती है। पुलिस ने घर में घुसकर मारपीट, हत्या का प्रयास, बलवा समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। मामला दो समुदायों से जुड़ा होने के कारण शांति व्यवस्था के लिए गांव में फोर्स तैनात की गई है।

कोतवाली क्षेत्र के टंडवा बनकटवा गांव की प्रीती यादव अपने पिता मनोहर लाल यादव के साथ भिनगा में चिकित्सक के यहां से इलाज करवाकर अपने घर लौट रही थी। इसी दौरान टंड़वा बनकटवा मोड़ पर चाय-पानी की दुकान पर बैठे मेराज व समसुद ने बेटी को अपशब्द कहते हुए उस पर भद्दी टिप्पणी की। पिता ने इसका विरोध किया तो आरोपित गाली-गलौज करते हुए मारपीट पर उतारू हो गए। शोर सुनकर घर से सिपाही, सांवली, दुर्गेश व दिलीप बचाव में दौड़े। तब तक दूसरे समुदाय के लोगों की भीड़ एकत्र हो चुकी थी। पीड़िता के पिता समेत बचाव में दौड़े लोगों पर आरोपितों ने लाठी-डंडों से हमला कर दिया। इससे गांव व आसपास के क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गई। डरे-सहमे लोग अपने घरों में घुस गए और दरवाजा बंद कर लिया। इसके बाद भी दबंग शांत नहीं हुए। कुल्हाड़ी व लाठी-डंडा लेकर घरों में घुस-घुस कर लोगों को पीटना शुरू कर दिया। इस दौरान सांवली की हत्या करने के नियत से उन पर कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ हमला किया। परिवार के अन्य सदस्यों की भी पिटाई की। बवाल की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। तब जाकर मामला शांत हुआ। घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। सांवली को लखनऊ रेफर किया गया है। एएसपी बीसी दूबे, सीओ हौसला प्रसाद व प्रभारी निरीक्षक देवेंद्र पांडेय ने घटनास्थल का निरीक्षण कर लोगों के बयान दर्ज किए। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि टंड़वा बनकटवा निवासी मिजान, मेराज अहमद, समसुद, समसुद्दीन, आलमगीर, कमरुद्दीन, मेहताब आलम व उपरहर गिलौला निवासी गुलजार के अलावा 25 अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है।

Edited By: Jagran