जासं, श्रावस्ती: सावन के दूसरे सोमवार पर भोर होते ही शिव मंदिरों में आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा। शिवालय हर-हर महादेव व बोल बम के जयकारों से दिन भर गूंजते रहे। महादेव के जलाभिषेक के लिए शिव मंदिरों के बाहर लंबी कतारें लगी रही।

सोहेलवा जंगल स्थित पांडव कालीन विभूतिनाथ शिव मंदिर में पड़ोसी राष्ट्र नेपाल समेत आसपास के कई जिलों के श्रद्धालु जलाभिषेक के लिए पहुंचे।

तड़के चार बजे यहां जलाभिषेक के लिए मंदिर प्रशासन की ओर से मंदिर के कपाट खोल दिए गए। भगवान भोले नाथ का अभिषेक करने के लिए आधी रात से ही श्रद्धालु कतारबद्ध थे। कपाट खुलते ही मंदिर परिसर हर-हर महादेव व बोल बम के जयकारों से गूंज उठा। श्रद्धालुओं ने बेलपत्र, पुष्प, अक्षत, शहद, भांग, धतूरा, दूध व पार्वती कुंड से लाए गए जल से भगवान शिव का जलाभिषेक किया। मंदिर परिसर में सुरक्षा के लिए महिलाओं व पुरुषों की अलग-अलग कतार लगाई गई थी।

जलाभिषेक करने के लिए पड़ोसी राष्ट्र नेपाल के अलावा बलरामपुर, बहराइच व गोंडा के शिव भक्त बड़ी संख्या में यहां पहुंचे। मंदिर के महंत शिवनाथ गिरि ने बताया कि सावन के दूसरे सोमवार पर विभूतिनाथ मंदिर में दो लाख से भी अधिक श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक किया। इसी प्रकार गिलौला के सदाशिव मंदिर, श्रावस्ती स्थित बनीनाथ महादेव मंदिर, इकौना के बड़ा शिवाला, भिनगा के रार्जिष काली मंदिर स्थित शिव मंदिर, मुंडा शिवाला, पटना खरगौरा के पोखरा धाम शिव मंदिर समेत जिले के अन्य शिवालयों में भी श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप