संसू, सोनवा(श्रावस्ती) : गिलौला ब्लॉक क्षेत्र में खेतों की सिचाई के लिए बने नहरों के जाल पर दबंगों ने अतिक्रमण कर लिया है। सरयू नहर से छोड़े गए पानी को रास्ते में ही रोक लिया गया है। रजवाहे में पानी न आने से दर्जनों गांवों में सिचाई बाधित है। इससे खेतों में खड़ी धान की फसल सूख रही है। किसान परेशान हैं, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है।

क्षेत्र के ककंधू, बरदेहरा, लालकैंदुआ, खुरुहरी, सोनवा, गिलौली, दूबकला, भारीगांव, शाहपुर कठौतिया, अकारा, गुजरवारा, मोहरनिया, नेवरिया, बैभी, बेतौनी, केशवापुर आदि गांवों में खेतों की सिचाई के लिए मुख्य साधन नहर ही है। समय से नहर का पानी मिल जाने से उत्पादन तो बढि़या होता ही है। लागत में भी कमी आती है। इस वर्ष बरसात पर्याप्त न होने से किसान पहले से परेशान हैं। ऊपर से नहर के पानी को भी दबंगों ने रोक लिया है। नहर की ददौरा रजवाहा व शाहपुर कठौतिया रजवाहा में सरयू नहर से पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं छोड़ा जा रहा है। ऐसे में नहर से रजवाहे की ओर आने वाले पानी को लोगों ने जगह-जगह रोक लिया है। पानी की धार तेज बनाकर लोग अपने खेतों की सिचाई कर रहे हैं। पानी रुका होने से अधिकांश क्षेत्र असिचित पड़ा है। नहर के रजवाहे में पर्याप्त पानी न होने से किसान पंपिग सेट लेकर खेतों की ओर दौड़ लगाते देखे जा सकते हैं। हर कोई परेशान हैं। धूप तेज खिलने से खेतों की नमी भी जल्दी चली जाती है। ऐसे में बेहतर उत्पादन के लिए खेतों में पानी भरा रहने की जरूरत है। यह नहर के पानी से ही संभव है, लेकिन पानी न मिल पाने से किसानों को अबकी बार फसल खराब होने की चिता सताने लगी है। सरयू नहर खंड-6 के अवर अभियंता राम नाथ मौर्य ने बताया कि रेगुलेटर के पास एक तावा किसी ने तोड़ दिया है। इससे अधिकांश क्षेत्र में पानी नहीं जा पा रहा है। ऐसा किसने किया है। इसकी जांच करवाकर कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस