शामली, जेएनएन। हाईस्कूल में जिले में दूसरा स्थान प्राप्त करने वाले अभिमन्यु मिश्रा शामली के मोहल्ला कमला कालोनी में रहते हैं। उनका पिता राजेश मिश्रा एडवोकेट हैं और माता अरूनिमा मिश्रा शामली के एक निजी स्कूल में काउंसलर हैं। वह पढ़ाई को छह से सात घंटे रोजाना देते थे। साथ ही स्कूल की शिक्षिका मनीषा और शिक्षक सागर के साथ ही अन्य सभी शिक्षकों ने उनकी पढ़ाई में खूब मदद की हैं। अभिमन्यु ने बताया कि हमारे देश में डाक्टर की बहुत कमी है, और वह डाक्टर बनना चाहते हैं। जिससे सभी लोगों को समय से उपचार मिल सकें। उनके माता-पिता की भी इच्छा उन्हें डाक्टर बनाना ही हैं। कहा कि एकाग्रता के साथ पढ़ाई करनी चाहिए। इंटरनेट मीडिया समय खराब करता है। लक्ष्य निर्धारित कर ही परिश्रम करना चाहिए। आज विद्यार्थियों के पास ज्यादा समय है। इसलिए इसका सद्पयोग करना चाहिए।

इंजीनियर बनना चाहते हैं 10 वीं टापर उमंग गुप्ता

जागरण संवाददाता, शामली: दसवीं की परीक्षा में जिला टाप करने वाले उमंग गुप्ता शामली के मोहल्ला काकानगर में रहते हैं।

मेधावी उमंग ने बताया कि उनके पिता अमित गुप्ता दवाई व्यापारी हैं। माता रीना गुप्ता गृहणी हैं। उमंग शुरू से ही लगातार बैठकर कई-कई घंटे तक पढ़ाई करते थे। बेटे के जिला टाप करने के बाद स्वजन में खुशी का माहौल है। उमंग ने बताया कि वह इंजीनियर बनना चाहते हैं। अब आगे की पढ़ाई वह दिल्ली से करेंगे। उसके लिए उमंग ने तैयारी पूरी कर ली है। कोरोना महामारी के चलते उन्होंने अपने दोस्तों से वीडियो कालिग के माध्यम से ही बातचीत करते हुए जश्न मनाया है।

Edited By: Jagran