ऊन (शामली) : कस्बे के बाइपास रोड स्थित शराब के ठेके के सामने प्राइवेट कैंटीन में दो दिन पूर्व आग लगा दी गई थी, जिसमें कैंटीन मालिक ने एक सभासद सहित तीन लोगों पर आग लगाने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी थी। पुलिस दबाव के चलते आरोपितों ने कैंटीन मालिक को पैसे देकर मामले को निपटा लिया।

कस्बे के बाइपास रोड पर ऊन निवासी बालेंद्र ¨सह ने कैंटीन खोल रखी है। बुधवार की शाम को बालेंद्र अपनी दुकान बंद कर घर गया था। रात्रि में दुकान का शटर तोडकर आग लगा दी गई थी। गुरुवार सुबह होने पर मोहल्ले के लोगों ने कैंटीन मालिक को आग लगने की सूचना दी। आनन-फानन में पीड़ित कैंटीन मालिक अपने परिजनों के साथ मौके पर पहुचा था। उस समय तक कैंटीन में लाखों का नुकसान हो चुका था। बाद में पीडि़त ने कस्बे के एक सभासद सहित तीन लोगों पर अपनी दुकान में आग लगाए जाने का आरोप लगाते हुए पुलिस चौकी पर तहरीर दी थी। बताया गया कि पुलिस दबाव के चलते आरोपियों ने कुछ लोगों के माध्यम से पीड़ित केंटिन मालिक से बातचीत की, और दुकान में हुए नुकसान के पैसे दे दिए। पैसे मिलने के बाद पीडित ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने से मना कर दिया। चौकी प्रभारी का कहना है कि दोनों पक्षों में समझौता हो गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस