शामली: नगर कोतवाली के गांव लांक में गुरुवार को कांवडियों द्वारा बीएसएनएल के टेलीफोन एक्सचेंज पर फहराया गया तिरंगा एक कर्मचारी ने उतार दिया। इससे भड़के कांवड़ियों व ग्रामीणों ने हंगामा किया। आरोपित कर्मचारी को हिरासत में लेने और दूसरा तिरंगा फहराने पर मामला शांत हुआ।

गठवाला खाप के गांव लांक निवासी राहुल मलिक सहित दर्जनों युवक गुरुवार सुबह हरिद्वार से डाक कांवड़ लेकर गांव में पहुंचे थे। वे तिरंगा झंडा साथ लेकर आए थे। सुबह मंदिर में हवन के बाद कांवड़िया देवराज, जितेंद्र, अर¨वद ने तिरंगे को गांव में टेलीफोन एक्सचेंज के टावर पर फहरा दिया।

आरोप है कि भाज्जू निवासी एक्सचेंज कर्मचारी शिवचरण ने विरोध करते हुए तिरंगा उतार दिया और कांवडियों से गाली-गलौज की। उतारते समय तिरंगा फट भी गया। इससे गुस्साए कांवड़ियों और ग्रामीणों ने कर्मचारी पर तिरंगे को पैरों तले रौंदने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। नगर कोतवाली प्रभारी जितेंद्र कालरा, लाक चौकी प्रभारी कर्मबीर ¨सह भारी पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे। एसडीएम व सीओ सिटी भी पहुंच गए। पुलिस ने आरोपी कर्मचारी को हिरासत में लिया। अधिकारियों ने नया तिरंगा मंगाकर फहराया। इसके बाद कांवड़िये शांत हुए।

नगर कोतवाली प्रभारी जितेंद्र कालरा ने बताया कि तहरीर मिली है। जांच कर आवश्यक कार्रवाई कराई जाएगी। उधर, आरोपित कर्मचारी का कहना है कि उन्होंने तिरंगे का अपमान नहीं बल्कि अपने अधिकारियों के आदेश का पालन किया था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप