शामली, जागरण टीम। गांव गोहरनी निवासी लापता दस वर्षीय मोहित की हत्या कर शव को नहर में फेंक दिया था। मोहित की हत्या उसी के सौतेले भाई ने अपने साथी की मदद से की थी। दोनों आरोपित नाबालिग हैं। हत्या का कारण आरोपित सौतेले भाई ने अपनी मां व सौतेली मां में पारिवारिक विवाद रहना बताया। गिरफ्तार आरोपितों की निशानदेही पर पुलिस ने मृतक बालक के कपड़े व एक चप्पल बरामद की है। दोनों का पुलिस ने चालान कर दिया है।

थाना आदर्श मंडी प्रभारी सुनील नेगी ने बताया कि तीन जुलाई को क्षेत्र के गांव गोहरनी निवासी सतबीर का दस वर्षीय बेटा मोहित रात में रहस्यमय हालात में लापता हो गया था। उसकी मां राजेश देवी ने गुमशुदगी दर्ज कराई थी। लगातार जांच पड़ताल करने पर पुलिस का शक मोहित के सौतेले भाई पर जा रहा था। इसी के चलते उसे बुलाकर पूछताछ की गई। पहले तो वह इधर-उधर की बाते बताता रहा, लेकिन बाद में उसने चौंकाने वाला सच उगल किया।

पुलिस के अनुसार, सौतेले भाई ने मोहित की हत्या अपने गांव के ही रहने वाले हम उम्र साथी के साथ मिलकर करना बताया। दोनों किशोर मोहित को कोल्ड ड्रिक पिलाने की बात कह कर अपने साथ गोहरनी के जंगल में निर्माणाधीन कलक्ट्रेट भवन के पीछे ले गए थे। वहां सौतेले भाई ने गला दबाया, उसके साथी ने हाथ पकड़े थे। इसके बाद आरोपित सौतेला भाई मददगार दोस्त के साथ अपनी बाइक पर शव को लिलोन नहर पर ले गया। वहां कपड़े उतार कर शव को नहर में फेंक दिया।

थाना प्रभारी ने बताया कि दोनों आरोपित गिरफ्तार कर लिए गए हैं। उनकी निशानदेही पर लिलोन नहर के पास झाड़ियों से मृतक बालक के कपड़े व एक चप्पल बरामद की है। शव को नहर तक ले जाने में प्रयुक्त बाइक व नहर में फेंके शव को तलाशा जा रहा है। आरोपितों का चालान कर दिया है। थाना प्रभारी के अनुसार, आरोपित सौतेले भाई का कहना था कि उसके पिता सतबीर ने पहली शादी होने के बाद उसकी मां प्रमिता से दूसरी शादी की थी। इसके बाद मोहित की मां राजेश देवी से तीसरी शादी कर ली। उसकी मां व राजेश देवी में पारिवारिक विवाद रहता था। इसी के चलते उसने मोहित की हत्या कर दी।

Edited By: Jagran