शामली, जेएनएन। चौसाना विधानसभा चुनाव को लेकर चौसाना पुलिस अलर्ट है। क्षेत्र मे शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए पुलिस ने गश्त बढ़ा दी है। आचार संहिता लागू होने के बाद शस्त्र लाइसेंस जमा कराए जाने की कार्यवाही शुरू कर दी गयी थी। अभी तक 95 शस्त्र लाइसेंस जमा किए जां चुके है। चौसाना पुलिस विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कायम रखने के लिए सतर्क है । चौसाना क्षेत्र में कुल 151 शस्त्र लाइसेंसधारी है। आचार संहिता लागू होने के साथ ही शस्त्र लाइसेंस धारकों को शस्त्र जमा कराने के लिए कहा गया है। अभी तक 95 शस्त्र लाइसेंस चौकी में जमा हो चुके हैं जबकि 56 शस्त्र लाइसेंस जमा होने शेष रह गए है। चौसाना चौकी प्रभारी समयपाल अत्री ने बताया कि विधानसभा चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए सभी लाइसेंस धारियों को लाइसेंस जमा कराने की सूचना दी गई है। शेष लाइसेंस धारियों से भी जल्द ही शस्त्र लाइसेंस को जमा कराया जाएगा। क्षेत्र में कानून व्यवस्था को बिगाड़ने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

थानाभवन सीट पर अशरफ बने सपा-रालोद गठबंधन उम्मीदवार

शामली: सपा-रालोद गठबंधन से थानाभवन सीट पर अशरफ अली उम्मीदवार बनाए गए हैं। यह सीट भी रालोद के खाते में गई है। शामली सीट पर पहले ही रालोद उम्मीदवार घोषित हो गए थे और कैराना सपा के खाते में है।

गुरुवार को सपा-रालोद गठबंधन के 29 सीट के उम्मीदवारों की सूची आई थी। इसमें शामली और सपा सीट भी शामिल थी, लेकिन थानाभवन सीट पर प्रत्याशी चयन में पेंच फंसा हुआ था। शनिवार को कुल सात सीट की घोषणा हुई, जिसमें थानाभवन भी शामिल है। यहां से उम्मीदवार बने अशरफ अली 2012 में भी चुनाव लड़े और भाजपा के सुरेश राणा से 265 वोट से हार गए थे। वह जलालाबाद नगर पंचायत के चेयरमैन भी रह चुके हैं।

शामली से बिजेंद्र और कैराना से राजेंद्र होंगे बसपा प्रत्याशी

शामली: बसपा ने भी शामली और कैराना सीट पर उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं। शामली से बिजेंद्र मलिक और कैराना से राजेंद्र उपाध्याय को प्रत्याशी बनाया गया है। थानाभवन सीट पर अभी घोषणा नहीं हुई है। ऐसे में सभी को बेसब्री से थानाभवन के प्रत्याशी घोषित होने का इंतजार है।

Edited By: Jagran