शामली,जेएनएन: भीम आर्मी के पदाधिकारियों ने दिल्ली के तुगलकाबाद स्थित संत शिरोमणि रविदास मंदिर को तोड़ने का विरोध करते हुए राष्ट्रपति को ज्ञापन देकर इसका पुन: निर्माण कराने की मांग की।

भीम आर्मी के पदाधिकारियों ने एसडीएम सदर को सौंपे गये ज्ञापन में कहा कि 14 वीं शताब्दी में लोदी वंश के शासक सिकंदर लोदी ने संत शिरोमणि गुरु रविदास के विचारों से प्रभावित होकर इस स्थान को मंदिर निर्माण हेतु दे दिया था। उक्त स्थान पर अपना अधिकार जमाने वाले दिल्ली विकास प्राधिकरण का गठन मुल्क की आजादी के बाद हुआ है। दिल्ली विकास प्राधिकरण इस जमीन को अपनी बताकर मामले को जान-बूझकर सुप्रीम कोर्ट में ले गया और वहां से मंदिर ध्वस्तीकरण का आदेश ले लिया। 10 अगस्त को दिल्ली विकास प्राधिकरण के अधिकारियों द्वारा तत्परता दिखाते हुए मंदिर को ध्वस्त कर दिया गया। रविदास मंदिर तोड़े जाने व भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर आजाद के साथ 95 अन्य निर्दोष लोगों को जेल में डालने के कारण लोगों में आक्रोश है। इस अवसर पर टिकू मैनवाल, गोविन्द, संदीप कुमार, हितेश गौतम, मोहित गौतम, रोहित कुमार, रामगोपाल, मनीष कुमार, मिथुन कुमार, राजेश कुमार, अरुण कुमार आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप