शामली, जेएनएन। जिले की तीनों विधानसभा सीट पर भाजपा के उम्मीदवार घोषित हो गए हैं। शामली से विधायक तेजेंद्र निर्वाल, थानाभवन से विधायक एवं योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा और कैराना से मृगांका सिंह को प्रत्याशी बनाया गया है। दोनों विधायकों और पिछली बार चुनाव लड़ चुकीं मृगांका सिंह पर पार्टी ने इस बार भी भरोसा जताया है।

आरएसएस से जुड़े रहे सुरेश राणा 2007 में थानाभवन सीट पर भाजपा से पहली बार बार चुनाव लड़े, लेकिन हार गए थे। 2012 में भाजपा प्रत्याशी के तौर पर उन्हें जीत मिली। 2017 में फिर जीते और योगी सरकार में गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग मंत्री बने थे।

तेजेंद्र निर्वाल भी संघ से जुड़े रहे हैं । 2017 में वह भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुनाव थे। हालांकि शामली सीट पर दावेदारों की लंबी लाइन थी।

मृगांका सिंह पूर्व सांसद दिवंगत बाबू हुकुम सिंह की बेटी हैं। 2017 में भाजपा ने कैराना विधानसभा सीट से प्रत्याशी बनाया था, पर जीत नहीं सकीं। 2018 में हुकुम सिंह के निधन के बाद कैराना लोकसभा सीट रिक्त हुई थी। तब मृगांका सिंह भाजपा से उपचुनाव लड़ी थीं लेकिन सपा-रालोद गठबंधन उम्मीदवार तबस्सुम हसन से हार गईं थीं।

विधानसभा चुनाव को लेकर चौसाना पुलिस अलर्ट

चौसाना: विधानसभा चुनाव को लेकर चौसाना पुलिस अलर्ट है। क्षेत्र मे शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए पुलिस ने गश्त बढ़ा दी है। आचार संहिता लागू होने के बाद शस्त्र लाइसेंस जमा कराए जाने की कार्यवाही शुरू कर दी गयी थी। अभी तक 95 शस्त्र लाइसेंस जमा किए जां चुके है। चौसाना पुलिस विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कायम रखने के लिए सतर्क है । चौसाना क्षेत्र में कुल 151 शस्त्र लाइसेंसधारी है। आचार संहिता लागू होने के साथ ही शस्त्र लाइसेंस धारकों को शस्त्र जमा कराने के लिए कहा गया है। अभी तक 95 शस्त्र लाइसेंस चौकी में जमा हो चुके हैं जबकि 56 शस्त्र लाइसेंस जमा होने शेष रह गए है। चौसाना चौकी प्रभारी समयपाल अत्री ने बताया कि विधानसभा चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए सभी लाइसेंस धारियों को लाइसेंस जमा कराने की सूचना दी गई है। शेष लाइसेंस धारियों से भी जल्द ही शस्त्र लाइसेंस को जमा कराया जाएगा। क्षेत्र में कानून व्यवस्था को बिगाड़ने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

Edited By: Jagran