शामली : सहारनपुर-शामली मार्ग पर गांव गोमतीपुर-सिक्का के बीच तीन बदमाशों ने फाइनेंस कंपनी के सुपरवाइजर से चाकू व क्रिकेट बैट के बल पर ढाई लाख रुपये लूट लिए। सुपरवाइजर कंपनी के लोन के रुपये वसूल कर बाइक से लौट रहा था। थाना पुलिस, क्राइम ब्रांच टीम के साथ एएसपी, सीओ मौके पर पहुंचे। पीड़ित सुपरवाइजर बार-बार अपने बयान बदल रहा है। पुलिस पीड़ित से पूछताछ व जांच पड़ताल में जुटी है।

सरसावा सहारनपुर के गांव कलोंदी निवासी अरविद शामली के रेलपार मोहल्ला में भारत माइक्रो फाईनेंस कंपनी में सुपरवाइजर है। कंपनी में वह डेढ़ माह से नौकरी कर रहा है। कंपनी ग्रामीण क्षेत्र में महिलाओं के समूह को लोन देती है। अरविद ऐसे समूहों की महिलाओं से कंपनी की रकम वसूलने का काम करता है। बताया गया कि शुक्रवार सुबह उसने गांव देवीपुरा, महावतपुर के बाद गोमतीपुर से रकम वसूल की। इसके बाद वह बाइक पर गोमतीपुर से सिक्का गांव के जंगल के रास्ते से शामली के लिए चला। जब वह पापुलर के बाग व पेपर मिल के बीच पहुंचा तभी रास्ते में क्रिकेट के बैट लिए दो बदमाश खड़े मिले। एक बदमाश बाइक पर पीछे से वहां पहुंचा। इसके बाद तीनों बदमाशों ने उसे कंपनी की वसूली रकम से भरा बैग चाकू दिखाकर लूट लिया और बाइक पर सवार होकर तीनों बदमाश फरार हो गए। पीड़ित ने कंपनी अधिकारियों व यूपी 100 पर सूचना दी। तब थाना आदर्श मंडी पुलिस, क्राइम ब्रांच टीम के साथ एएसपी राजेश श्रीवास्तव, सीओ एके सिंह मौके पर पहुंचे। पुलिस अधिकारियों ने पीड़ित सुपरवाइजर से पूछताछ की। थाना प्रभारी यज्ञदत्त शर्मा ने बताया कि सुपरवाइजर अपने बयान बदल रहा है। पहली बार में उसने 2 लाख 54 हजार रुपए बताए थे। बाद में वह दो लाख और इसके बाद एक लाख बीस हजार रुपये बताने लगा। मामले का सच सामने लाने के लिए क्राइम ब्रांच टीम जांच पड़ताल में जुटी है। समाचार लिखे जाने तक घटना के बारे में तहरीर नहीं दी गई थी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस