शामली, जागरण टीम। जिले में गंगा दशहरा पर्व धूमधाम के साथ मनाया गया। गंगा दशहरा पर्व के अवसर पर यूपी व हरियाणा से यमुना नदी पर श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ा। श्रद्धालुओं ने यमुना में आस्था की डुबकी लगाई और दान-पुण्यकर्म किया। स्नान के चलते यमुना नदी पर प्राइवेट गोताखोर तैनात रहे। दूसरी ओर गढ़ीपुख्ता क्षेत्र के गंदेवड़ा संगम स्थल पर भी श्रद्धालुओं ने स्नान व पूजा अर्चना की।

रविवार को गंगा दशहरा पर्व पर यूपी-हरियाणा आर्डर पर स्थित यमुना नदी पर दोनों राज्यों से सुबह से ही श्रद्धालु पहुंचने शुरू हो गए थे। यहां हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने पहुंचकर यमुना नदी किनारे विशेष पूजा-अर्चना की तथा यमुना नदी में स्नान किया। श्रद्धालुओं ने सूर्य को अ‌र्ध्य दिया और परिवार में सुख, शांति एवं समृद्धि की कामना की। यमुना किनारे लगी खेल-खिलौनों की दुकानों पर भी जमकर खरीदारी की गई। इस दौरान बच्चों में खासा उत्साह देखने को मिला। जिन्होंने अपने मन-पसंदीदा सामानों की खरीदारी की।

दूसरी ओर, गंदेवडा संगम स्थल पर गंगा दशहरा पर्व पर जलालाबाद व दूरदराज क्षेत्रों से पहुंचे श्रद्धालुओं ने डुबकी लगाकर स्नान किया। संगम तट पर गंगा मैया की जय जय कार गूंजायमान रही। यज्ञ, पूजा-अर्चना, दान श्रद्धालुओं ने संगम किनारे विधि विधानपूर्वक किया।

गढ़ीपुख्ता: गढ़ीपुख्ता के गंदेवडा संगम पर हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने पहुंचकर संगम में डुबकी लगाकर मां गंगा से परिवार की सुख समृद्धि की कामना की। ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष दशमी को मां गंगा का धरती पर अवतरण होने के उपलक्ष्य में गंगा दशहरा का पर्व मनाया जाता है। रविवार को गंगा दशहरा का पर्व उल्लास एवं श्रद्धापूर्वक मनाया गया। इस अवसर पर लोगों ने सुबह के समय गंगा में आस्था की डुबकी लगाकर गरीबों को दान पुण्य कर धर्म लाभ उठाया। कस्बा गढ़ीपुख्ता स्थित क्षेत्र में गंदेवडा नहर संगम पर रविवार की सुबह से ही श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया था। इस दौरान हजारों लोगों ने स्नान कर धर्मलाभ उठाया।

वहीं, पूजा अर्चना के बाद गरीबों को दान पुण्य भी किया। स्नान करने आए लोगों ने बताया कि गंदेवडा नहर संगम हरिद्वार से आने वाली गंगा से जुडा है जिससे लोगों में यहां स्नान करने के प्रति गहरी आस्था है। यहां आसपास के जनपदों के साथ-साथ दूर दराज के गांवों से भी लोग स्नान करने के लिए पहुंचते हैं। संगम पर हजारों लोगों की भीड़ को देखते हुए पुलिसकर्मियों की भी तैनाती की गई थी।

Edited By: Jagran