जागरण संवाददाता, शामली : जिले में गुरुवार को कोई कोरोना संक्रमित नहीं मिला है। ऐसे में सक्रिय केस चार ही हैं। संक्रमितों की कुल संख्या 12900 है और 12851 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।

पांच दिन बाद बुधवार को दो कोरोना संक्रमित मिले थे। गुरुवार को 2619 लोगों की एंटिजन जांच हुई, लेकिन कोई संक्रमित नहीं मिला। 6.05 लाख लोगों की अब तक जांच हो चुकी है। 1232 सैंपल आरटी-पीसीआर जांच को भेजे गए हैं। ऐसे में संक्रमण की दर 2.13 और ठीक होने की 99.62 फीसद है। जिलाधिकारी जसजीत कौर ने बताया कि औसतन ढाई हजार लोगों की जांच प्रतिदिन हो रही है। 40 से 50 फीसद सैंपल आरटी-पीसीआर जांच को भेजे जा रहे हैं।

छह बूथों पर हुआ वैक्सीनेशन

कैराना : स्वास्थ्य विभाग की ओर से छह बूथों पर कोरोना वैक्सीनेशन किया गया। गुरुवार को नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, पीएचसी कंडेला, औद्योगिक क्षेत्र कंडेला, कसेरवा खुर्द, पीएचसी भूरा व प्राइमरी शास्त्री स्कूल में स्वास्थ्य विभाग ने कोरोनारोधी वैक्सीनेशन किया। इस दौरान कुल 765 लाभार्थियों को वैक्सीन लगाई गई। संसू सीएचसी व दभेड़ी में लिए सैंपल

कैराना : स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गुरुवार को नगर के सीएचसी व गांव दभेड़ी खुर्द में कोरोना जांच हेतु 765 लोगों के सैंपल लिए गए। इनमें एंटीजन से 129 की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई। वहीं आरटीपीसीआर किट से लिए 129 सैंपल लैब भेज दिए गए। संसू

कोरोना के डेल्ट प्लस वेरिएंट से बचाव को किया जागरूक

संवाद सूत्र, कैराना : एक्शन ऐड एसोसिएशन व सीमेंस ने अफकार इंडिया फाउंडेशन के सहयोग से कोरोना डेल्टा प्लस वेरिएंट के प्रति लोगों को जागरूक किया।

एक्शन ऐड एसोसिएशन की ओर से गांव-दर-गांव जागरूक अभियान चलाया जा रहा है। इसी के तहत गुरुवार को कार्यकर्ता गांव पंजीठ, मदनी नगर कालोनी व विभिन्न गांवों में पहुंचे। जहां ई-रिक्शा में एनाउंस्मेंट के माध्यम से लोगों को कोरोना डेल्टा प्लस वेरिएंट से बचाव के लिए जागरूक किया गया। एक्शन ऐड के कार्यकर्ता रिजवान सैफी ने बताया कि कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वेरिएंट के चलते हुए हम सबको अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। इस समय देश के सभी व्यक्तियों को कोरोना के खिलाफ लड़ रहे लोगों का साथ देना चाहिए और सरकार द्वारा जारी की जा रही गाइडलाइन का पालन करना चाहिए। कोई भी व्यक्ति ये ना सोचे कि कोरोना खत्म हो गया, डाक्टरों और वैज्ञानिकों का मानना है कि इसकी तीसरी लहर आने की संभावना है। इसलिए सावधानी की जरूरत है।

Edited By: Jagran