शामली, जेएनएन। दिल्ली में संत शिरोमणी रविदास के मंदिर को तोड़ने विरोध में बुधवार को नेशनल भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट पहुंचकर नारेबाजी करते हुए जमकर प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने मांग की कि मंदिर का पुनर्निर्माण किया जाए। साथ ही आंदोलन में जेल भेजे गए युवाओं की रिहाई कराई जाए।

बुधवार को नेशनल भीम आर्मी बहुजन एकता मिशन के पदाधिकारियों ने दिल्ली के तुगलकाबाद में संत रविदास मंदिर के तोड़ने का पुरजोर तरीके से विरोध किया। कार्यकर्ताओं ने जय भीम और मंदिर तोड़ने वालों पर कार्रवाई की मांग को लेकर खूब नारेबाजी की। इस मौके पर जिलाध्यक्ष संदीप कटारिया ने कहा कि मंदिर का पूनर्निर्माण कराया जाए। इसे लेकर सख्त से सख्त कानून भी बनाया जाए। उन्होंने कहा कि मंदिर तोडे़ जाने से दलितों की आस्था को ठेस पहुंची है। जिसमें कानून बनाकर मंदिर का पुर्ननिर्माण कराया जाए और जिन लोगों को आंदोलन के दौरान जेल भेजा गया है, उनकी रिहाई कराई जाए। इसी के साथ डा. भीम राव आम्बेडकर की प्रतिमा जगह-जगह तोड़ी जा रही है। ऐसे असमाजिक तत्वों को चिह्नित कर उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। आरोप लगाया कि दलितों पर अत्याचार बढ़ रहे है। इन अत्याचारों को बंद किया जाये। इस मौके पर राष्ट्रपति को संबोधित एक ज्ञापन भी डीएम अखिलेश सिंह को सौंपा गया। इस अवसर पर सतेन्द्र झाल, संदीप कटारिया, सागर कटारिया, देवेंद्र कुमार, अजय कुमार, राकेश कुमार, राहुल कुमार, भगत सिंह, विपिन कुमार, अजय कुमार, भारतवीर, आशीष कुमार, चंद्रदास, देवेन्द्र कुमार, राकेश कुमार आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप