कैराना, जेएनएन। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (त्वरित न्यायालय) ने बेटी के कत्ल के मामले में दोष पाए जाने पर सौतेली मां और पिता को आजीवन कारावास तथा दस-दस हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है।

जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी संजय चौहान व सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता अशोक पुंडीर ने शनिवार को बताया कि 15 मई 2018 को झिझाना थानाक्षेत्र के गांव हथछोया में 20 वर्षीय शमीमा की लाठी-डंडों से पीटकर हत्या कर दी गई थी, जिसका आरोप मृतका की सौतेली मां सितारा व पिता शौकीन पर लगा था। घटना के संबंध में राजस्थान से आए मृतका के भाई शमीम ने थाना झिझाना पर अभियोग दर्ज कराया था। पुलिस ने मामले की विवेचना करने के पश्चात आरोप पत्र न्यायालय में प्रेषित कर दिया था। यह मामला कैराना स्थित अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (त्वरित न्यायालय) में विचाराधीन चल रहा था। अभियोजन पक्ष की ओर से 15 गवाह न्यायालय के समक्ष पेश किए गए। सुनवाई के दौरान गवाह अपने बयानों से मुकर गए, जिसके बाद बयानों को संदेहास्पद मानते हुए पोस्टमार्टम रिपोर्ट व डाक्टरों के बयान कराए गए। इस पूरे प्रकरण में एसपी के निर्देशन में मॉनीटरिग सेल ने प्रभावी पैरवी की। शनिवार को न्यायाधीश सुबोध सिंह ने पत्रावलियों का अवलोकन करने तथा दलील सुनने के पश्चात दोनों आरोपियों को दोषी माना। न्यायालय ने दोनों को आजीवन कारावास व दस-दस हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई। अर्थदंड अदा नहीं करने की सूरत में एक-एक वर्ष का अतिरिक्त कारावास भुगतना पड़ेगा।

तीनों विधासनसभा क्षेत्र के एक-एक मतदान स्थल परिर्वतन

शामली: अपर जिला निर्वाचन अधिकारी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी लखनऊ ने 13 जनवरी को मतदेय स्थलों के संशोधन प्रस्ताव को कालम-7 के अनुसार अनुमोदित कर दिया है। इसमें कैराना विधानसभा क्षेत्र में पहले मतेदय स्थल 274 प्राथमिक विद्यालय-3 आलखुर्द कैराना को संशोधित करते हुए ब हरिजन चौपाल आलखुर्द किया गया है। वहीं थानाभवन में मतदेय स्थल-332 जूनियर हाईस्कूल कमरा नंबर-1 लाडो मजरी को प्राथमिक विद्यालय कमरा नंबर-1 लाडो मजरी किया गया है। शामली विधानसभा क्षेत्र के मतदेय स्थल 98 कस्तूरबा गांधी विद्यालय कमरा नंबर-5 पटेल नगर 52 को बदलकर जूनियर हाईस्कूल कमरा नंबर-5 बनत पटेल नगर किया गया है।

Edited By: Jagran