शामली: अपर जिलाधिकारी आनंद शुक्ला ने कहा कि लेखपाल राजस्व विभाग की रीढ़ हैं। इसलिए वे अपने दायित्वों को ईमानदारी एवं पारदर्शिता के साथ निर्वहन करे।

रविवार को उप्र लेखपाल संघ के अधिवेशन का आयोजन रजवाड़ा फार्म में किया गया। यहां बतौर मुख्य अतिथि अपर जिलाधिकारी आनंद शुक्ला ने कहा कि लेखपालों के बिना राजस्व कार्य किसी भी सूरत में पूरा नहीं हो सकते है। इसलिए लेखपाल राजस्व की रीढ़ होता है। लेखपालों के कंधें पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी रहती है, इसलिए उन्हें अपने कार्य को बेहद सावधानी से करना चाहिए। अधिवेशन में लेखपाल संघ का चुनाव निर्विरोध संपन्न हुआ। इसमें अध्यक्ष पद पर ओमपाल सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष पर ब्रजपाल सिंह, कनिष्ठ उपाध्यक्ष पर अजित सिंह, सचिव लोकेश कुमार, उप सचिव सुरेंद्र दत्त शर्मा, कोषाध्यक्ष अनिल कुमार, लेखा परीक्षक अकरम अली को चुना गया। शामली में पहुंचे लेखपाल संघ के प्रदेश अध्यक्ष राममूरत यादव ने कहा कि लेखपालों की समस्याओं का समाधान कराया जाएगा। संघ उनकी समस्याओं को लेकर सदैव जिम्मेदारी के साथ कार्य कर रहा है। इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष श्यामवीर चौहान एवं संचालन तहसील शामली के अध्यक्ष शैलेंद्र सिंह ने किया। इस अवसर पर नरेश मलिक, रामफल मलिक, विनोद कुमार, भूपेंद्र कुमार, आदित्य कुमार, सचिन कुमार, छाया सिंह, नागेंद्र शर्मा, सुरेंद्र शर्मा, विमल, आदि मौजूद रहे

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप