शामली, जेएनएन। एएनएम काजल छह माह तक एसीएस में काम करने के बाद अब टीकाकरण में जुटी हैं। कोरोना से बचाव के लिए सावधानी का पूरा ध्यान रख रही हैं और संक्रमण से सुरक्षित हैं।

एएनएम काजल शर्मा शामली शहर के पंसारियान मोहल्ला स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में तैनात हैं। अप्रैल में कोरोना को लेकर एक्टिव केस सर्च (एसीएस) का कार्य शुरू हुआ था। टीकाकरण बंद हो गया था तो उनकी ड्यूटी एसीएस में लग गई। एसीएस उन क्षेत्रों में होता है, जहां से संक्रमित मिलते हैं। संक्रमण के खतरे के बीच लगातार काम किया, लेकिन अपनी सुरक्षा के प्रति भी सतर्क रहीं। काजल बताती हैं कि जिस क्षेत्र में ड्यूटी होती थी, वहां के हरेक घर तक पहुंचना होता था। लेकिन शारीरिक दूरी का ध्यान रखा और लोगों को भी जागरूक किया। अब टीकाकरण संबंधित काम ही देख रही हैं। बच्चे और गर्भवती महिला का कोई टीका न छूटे, उसके बारे में भी बताती हैं। कोरोना को लेकर बिल्कुल भी लापरवाही नहीं करनी चाहिए। केस होने का मतलब ये नहीं है कि खतरा टल गया। इसलिए बिना मास्क के कहीं भी नहीं जाना चाहिए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस