शामली, जागरण टीम। कोरोना काल के दौरान स्कूल-कालेज बंद हैं, ऐसे में डीआइओएस सरदार सिंह ने बच्चों की पढ़ाई को ध्यान में रखते हुए एक नई पहल की है। उन्होंने कक्षा 9 से 12 तक के सभी विषय के वरिष्ठ शिक्षकों के नंबर बच्चों के लिए जारी करा दिए हैं। लिस्ट में विषय के साथ शिक्षकों के नंबर भी दर्ज हैं। कोई भी छात्र-छात्रा पढ़ाई से संबंधित किसी भी परेशानी में शिक्षकों से काल करके अपनी समस्याओं का समाधान करा सकते हैं।

तेजी से फैल रहे संक्रमण के चलते शासन के आदेश पर स्कूल-कालेज बंद चल रहे हैं। पढ़ाई को ध्यान में रखते हुए कक्षाओं का संचालन आनलाइन किया जा रहा है, लेकिन देहात क्षेत्र में नेटवर्क की समस्याओं के कारण जिले के बहुत विद्यार्थी ऐसे हैं जो पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं। डीआइओएस के पास ऐसी विभिन्न समस्याएं पहुंची तो उन्होंने वरिष्ठ प्रधानाचार्यों से बातचीत करके इस समस्या का हल निकाला। शासन के आदेश पर उन्होंने सभी विषय के वरिष्ठ शिक्षकों के नंबर की एक लिस्ट को सभी विद्यार्थियों के पास भिजवा दिया है।

अब किसी भी छात्र-छात्रा को पढ़ाई संबंधित कोई समस्या है तो वह शिक्षकों से दिन-रात कभी भी संपर्क कर सकते हैं। शिक्षकों ने भी छात्र हित में अपना योगदान देने की कही है।

-

इन्होंने कहा

छात्र-छात्राओं की पढ़ाई से संबंधित समस्याओं का समाधान करने के लिए शिक्षकों के नंबर जारी किए हैं। बच्चों को इससे पढ़ाई संबंधित बहुत फायदा मिल रहा हैं।

-सरदार सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक

आनलाइन शिविर में कराया योगाभ्यास

जागरण संवाददाता, शामली:

सीएचसी शामली और कुड़ाना में तैनात योग प्रशिक्षक राजकुमार आनलाइन शिविर आयोजित कर रहे हैं। साधकों को योगासन और प्राणायाम का अभ्यास करा रहे हैं।

योग प्रशिक्षक राजकुमार ने बताया कि क्षेत्रीय आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी डा. ईसमपाल सिंह के निर्देशन में योगाभ्यास कराया जा रहा है। गूगल मीट एप के माध्यम से लोगों को जोड़ा जाता है। कोरोनाकाल में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आसन व प्राणायाम भी बताए जा रहे हैं।

निश्शुल्क योग शिविर का शुभारंभ मई माह में हुआ था। इच्छुक लोग योगाभ्यास के लिए 9877919494 नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर बनाने और आक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए भस्त्रिका, अनुलोम-विलोम, कपालभाति, उद्गीथ, भ्रामरी प्राणायाम का अभ्यास बेहतर है।

Edited By: Jagran