शामली, जागरण टीम। कैराना क्षेत्र के गांव खुरगान में बरसात के चलते एक व्यक्ति का मकान ढह गया। इस दौरान परिवार बाल-बाल बच गया।

कैराना विकास खंड के अंतर्गत गांव इस्सोपुर खुरगान निवासी सालिम पुत्र यासीन के मकान ने गत दिनों हुई बारिश के कारण पानी सोख लिया था, जिस कारण रविवार को उसका मकान भर-भराकर गिर गया। गनीमत रही कि इस दौरान परिवार के सदस्य बाल-बाल बच गए। पीड़ित ने प्रशासन से मुआवजे की गुहार लगाई है। बतादें कि जाकिर का मकान भी गत दिनों हुई बारिश के कारण गिर गया था। इसके बाद अनीस पुत्र जहूर का मकान गिरने के कगार पर है। अनीस का कहना है कि उसका नाम प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण योजना की सूची में हैं, लेकिन अभी तक किस्त नहीं मिल पाई है। उसे कच्चे मकान के गिरने का खतरा सता रहा है। ग्रामीण ने मकान बनाने हेतु किस्त दिलवाए जाने की गुहार लगाई है।

यमुना नदी का जलस्तर मामूली घटा

संवाद सूत्र, कैराना : यमुना नदी के जलस्तर में मामूली गिरावट दर्ज की गई है। उधर, हथिनीकुंड बैराज से पानी छोड़ने का सिलसिला जारी है।

पहाड़ी क्षेत्रों में वर्षा के चलते हथिनीकुंड बैराज से यमुना नदी में निरंतर पानी छोड़ा जा रहा है। शनिवार शाम यमुना नदी 230.18 मीटर पर बह रही थी। जबकि रविवार सुबह आठ बजे जलस्तर में गिरावट दर्ज की गई। ड्रेनेज विभाग के जेई आशु कुमार ने बताया कि सुबह आठ बजे जलस्तर 230.10 मीटर रिकॉर्ड किया गया। सुबह आठ बजे हथिनीकुंड बैराज से 17828 क्यूसेक पानी डिस्चार्ज किया गया। वहीं, शाम पांच बजे 15875 क्यूसेक पानी छोड़ा गया और जलस्तर 230.05 मीटर रिकॉर्ड किया गया। यहां से चेतावनी बिदु 231 मीटर व खतरे का निशान 231.500 मीटर पर है। दूसरी ओर, तटवर्ती गांवों में बसे लोगों की चिता अभी दूर नहीं हुई है।

Edited By: Jagran