शामली, जागरण टीम। थानाभवन में रेलवे क्रासिग पर लगने वाले जाम व खतरे से निजात दिलाने के लिए बनाए गए अंडरपास कस्बावासियों के लिए परेशानी का सबब साबित हो रहे हैं।

बुधवार को पानी भरने के बाद पहले अंडरपास में एक दूल्हे की कार फंस गई तो उसके कुछ देर बाद बुलेरो और बाइक आदि फंसने से खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। ग्रामीणों की मदद से वाहनों को पानी से बाहर निकाला गया।

बुधवार को हुई तेज बारिश से कस्बे के अंडरपास जलमग्न हो गए। इस दौरान यहां पांच से छह फीट तक पानी भर गया। दोपहर करीब तीन बजे अंबेहटा हसनपुर निवासी युवक मोहम्मद आरिफ अपनी शादी में रिश्तेदारों के साथ मुजफ्फरनगर के लिए जा रहा था। रसीदगढ़ अंडर पास के नीचे वर्षा से भरे पानी में कार फंस गई। आसपास कोई वाहन न होने से ड्राइवर और दूल्हे आदि ने पानी में घुसकर धक्का लगाकर कार को बड़ी मुश्किल पानी से बाहर निकाला, लेकिन गाड़ी चालू नही हुई। दूसरी गाड़ी मंगाकर दूल्हा उसमें बैठकर शादी के लिए गया। विदित हो कि करीब एक वर्ष पूर्व बारातियों से भरी बस भी अंडरपास में फंस गई थी। निकासी ठप, पालिका, विकास खंड, हास्पिटल, कालोनी बने तालाब

संवाद सूत्र, कांधला : नगर पालिका के तमाम दावों के बावजूद एक बारिश ही नगर पालिका के दावों की पोल खोलने के लिए काफी है। बरसात के कारण पूरा नगर अस्त व्यस्त होकर रह गया। चारों और बस पानी ही पानी भरा हुआ है।

नगर पालिका परिषद के द्वारा नगर में नालों की सफाई के लाख दावे किए जाते रहे हो, लेकिन सच्चाई यह है कि नगरवासियों को तो परेशानियों का सामना करना पड़ता ही है। इससे बच कर नगर पालिका परिषद के कर्मचारी भी नही भाग सकते, बरसात के कारण नगर पालिका परिषद के प्रांगण में पानी भर जाने के कारण नगर पालिका का कामकाज ठप हो जाता है। वहीं दूसरी और विकास खण्ड की आवासीय कालोनियों में भी पानी भर गया और विकास खण्ड की दीवार गिर गई। विकास खण्ड में बनी आवासीय कालोनी सड़क से नीची होने के कारण 4-4 फुट तक पानी भर जाता है। इससे वीडीओ कार्यालय में भी पानी घुस आता है। वहीं नगर की कैराना रोड स्थित टीचर कालोनी में ठेकेदारों द्वारा सड़कों को ऊंचा उठाने से पूरी कालोनी जलमग्न हो गई। विरोध करने पर भी पालिका की तरफ से कोई सुनवाई नही हुई। नगर के सामुदायिक स्वस्थ्य केंद्र भी जलभराव हो गया।

Edited By: Jagran