शामली, जेएनएन।

जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने कहा कि प्रत्येक स्कूल-कॉलेज संचालक अपने-अपने संस्थानों में रेन हार्वेस्टिग सिस्टम अनिवार्य तौर पर लगाए। इसके साथ ही बच्चों को जल संरक्षण की जानकारी दे। इसके लिए सुबह में प्रार्थना के समय व क्लास के दौरान भी इसके प्रति बच्चों को जागरूक करते हुए जल बचाने का महत्व सिखाए। डीएम ने गरीब बच्चों को संस्थानों में निश्शुल्क शिक्षा दिलाने पर भी जोर दिया।

गुरूवार को कलक्ट्रेट सभागार में डीएम अखिलेश सिंह ने स्कूल संचालकों व प्रधानाचार्यों की बैठक ली। डीएम ने कहा कि कुछ शिकायतें मिल रही है कि एक स्कूल से बच्चों को फीस के लिए निकाला गया है, यह सही नहीं है। जिस पर स्कूल संचालक ने बताया कि उक्त अभिभावक निश्शुल्क शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत पात्रता की सूची में नहीं है, वहीं स्कूल से निकाला नहीं गया। इस पर डीएम ने कहा कि पात्रता की सूची में न होने वालों की जांच कराई जा सकती है, लेकिन दूरी बताकर स्कूल से दाखिला न देन पर जोर न दिया जाए। डीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री ने मन की बात कार्यक्रम में जल संरक्षण पर जोर दिया है। इसलिए जल संरक्षण को लेकर प्रत्येक स्कूल पूरी गंभीरता से कार्य करें। बच्चों को जल संरक्षण की जानकारी देने के साथ ही रेन हार्वेस्टिग सिस्टम भी लगाया जाए। इस अवसर पर मीनू संगल, निशि जैन, अजय संगल आदि शामिल रहे।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran