शामली, जागरण टीम। महावतपुर गांव में बुखार का भारी प्रकोप है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शिविर लगाया तो 119 बुखार के मरीज मिले और डेंगू संभावित 31 मरीज है। उक्त के सैंपल लिए गए और एलाइजा जांच को भेजे जा रहे हैं।

जिले में बुखार का काफी प्रकोप है। डेंगू के भी 32 मरीज मिल चुके हैं, जो अब तक किसी भी वर्ष में सर्वाधिक हैं। स्वास्थ्य विभाग को सूचना मिली थी कि थानाभवन क्षेत्र के गांव महावतपुर में काफी लोग बुखार से ग्रस्त हैं। ऐसे में टीम पहुंची और शिविर लगाया गया। 42 घरों में लार्वा चेकिग की गई और तीन घरों में लार्वा मिला है। लार्वा को नष्ट कर नोटिस दिए गए हैं। साथ ही पूरे गांव में फागिग और एंटी लार्वा का छिड़काव कराया गया है। स्वास्थ्य शिक्षा देते हुए बताया कि रात में मच्छरदानी का प्रयोग करें। घर और आसपास सफाई रखें और पानी को इकट्ठा न होने दें। अगर कहीं गड्ढे में पानी भरा हो तो उसे मिट्टी से भर दें या सप्ताह में दो बार जला हुआ मोबिल आयल डाल लें। डेंगू, मलेरिया के लक्षणों के बारे में भी जानकारी दी गई है।

जिला मलेरिया अधिकारी डा. विनय कुमार ने बताया कि 29 सैंपल की रिपोर्ट पहले से लंबित है, जो शनिवार को आ सकती है। 31 सैंपल और भेजे जा रहे हैं। अब तक 143 सैंपल की रिपोर्ट आई है और 32 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई है। जिले में इस वर्ष मलेरिया के कुल मरीजों की संख्या अब तक 43 है। जहां भी टीम जा रही है, वहां लोगों को बताया जा रहा है कि बुखार आने पर चिकित्सक से संपर्क करें और खुद से पैरासिटामोल के अलावा अन्य कोई दवा न लें।

Edited By: Jagran