झिझाना (शामली) : झिझाना थाना क्षेत्र के गांव पुरमाफी का किसान कई माह से कर्ज माफ न होने से तनाव में था। शनिवार की शाम किसान ने जहर निगल लिया। परिजनों ने उसे मेरठ के एक अस्पताल में भर्ती कराया, जहां रविार को उसने दम तोड़ दिया।

झिझाना थाना क्षेत्र के गांव पुरमाफी निवासी राजेंद्र पुत्र सुखबीर ने दो वर्ष पहले अपनी बेटी की शादी की थी, जिसमें काफी कर्ज हो गया था। बेटी की शादी के बाद विधानसभा चुनाव में भाजपा ने घोषणा की थी कि यदि भाजपा सरकार बनी तो सीमांत किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा। सरकार बनने के बाद भी किसान का कर्ज माफ नहीं हुआ। परिजनों के मुताबिक, इन हालात में राजेंद्र तनाव में था। शनिवार की शाम राजेंद्र ने कीटनाशक दवाई का इस्तेमाल कर लिया। पोस्टमार्टम के बाद देर शाम गांव में शव लाया गया, जहां शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। पुलिस ने जानकारी होने से इन्कार किया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस