शामली, जेएनएन। डीएम जसजीत कौर ने चुनावी रैली, रोड शो पर पूरी तरह से प्रतिबंध रखने के निर्देश दिए हैं। डीएम ने स्पष्ट किया कि चुनाव आयोग ने इसके लिए 22 जनवरी तक रोक लगा दी है। ऐसे में आयोग के निर्देशों का 100 फीसद पालन किया जाए।

डीएम ने कहा कि आचार संहिता का हर हाल में पालन कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि आगामी 22 जनवरी तक रैली व रोड शो पर प्रतिबंध लगाया गया है। राजनीतिक दलों के लिए अधिकतम 300 व्यक्तियों को हाल की क्षमता के अनुसार 50 प्रतिशत का निर्धारण करने का निर्णय एसडीएम लेंगे। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार राजनीतिक दलों के आदर्श आचार संहिता व कोविड-19 के नियमों का पालन सुनिश्चित किया जाएगा।

जिले में आदर्श आचार संहिता व कोविड से संबंधित सभी निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाएगा। डीएम ने कहा कि 22 जनवरी तक कोई रोड शो, पद-यात्रा, साइकिल, बाइक, वाहन रैली और जुलूस की अनुमति नहीं दी जाएगी। वहीं, राजनीतिक दलों या उम्मीदवारों (संभावित सहित) या चुनाव से संबंधित किसी अन्य समूह की किसी भी फिजिकल रैली की अनुमति नहीं दी जाएगी।

कहा कि निर्वाचन आयोग ने राजनीतिक दलों के लिए इस हद तक छूट दी गई है, कि अधिकतम 300 व्यक्तियों की बैठकें हाल की क्षमता का 50 प्रतिशत जिसकी संबंधित एसडीएम निर्धारित सीमा की अनुमति देंगे। राजनीतिक दल चुनाव से जुड़ी गतिविधियों के दौरान सभी अवसरों पर कोविड के उचित व्यवहार और दिशा-निर्देशों और आदर्श आचार संहिता का अनुपालन सुनिश्चित करेंगे। तीन किसानों का भुगतान बाकी

शामली: जिले में किसी भी क्रय केंद्र पर इस माह अब तक धान नहीं आया है। हालांकि सभी केंद्र चालू हैं और 31 जनवरी तक खरीद सत्र है। वहीं, तीन किसानों का ही भुगतान बाकी है।

डिप्टी खाद्य विपणन अधिकारी कमलेश सिंह ने बताया कि एक हजार मीट्रिक टन के लक्ष्य के सापेक्ष 1015.50 मीट्रिक टन की खरीद दिसंबर के अंत में ही हो गई थी। इसके बाद से कोई किसान नहीं आया है। पिछले साल 1047.22 मीट्रिक टन की खरीद हुई थी। इस बार 345 किसानों ने धान बेच और 342 का भुगतान हो गया है। तीन किसानों का भुगतान बैंक खाता संबंधित तकनीकी समस्या के कारण नहीं हुआ है। जल्द ही हो जाएगा।

Edited By: Jagran