शामली, जेएनएन। शामली के जलालाबाद में खाद्य रसद विभाग ने अपात्र राशन कार्ड धारकों को चिन्हित करने के लिए टीम गठित कर डोर टू डोर जांच की है। टीम में क्षेत्रीय आपूर्ति अधिकारी, पूर्ति निरीक्षक, लिपिक, कंप्यूटर आपरेटर शामिल रहे। काफी संख्या में अपात्र राशन कार्ड धारक बनकर पात्रों का हक छीन रहे हैं। कस्बे में शनिवार को क्षेत्रीय आपूर्ति अधिकारी संजय सक्सेना के नेतृत्व में अपात्र राशन कार्ड धारकों की जांच करने के लिए तीन टीमें पहुंची। जांच टीमों में पूर्ति निरीक्षक दीपा वर्मा, रजनी चौधरी, मनीष कुमार, अंकुर कुमार, पूर्ति लिपिक सुनील कुमार, सद्दाम, सनी कुमार, कंप्यूटर आपरेटर शामिल रहे। गठित टीमों ने आर्यनगर, गांधी चौक, प्रताप नगर, मोहम्मदी गंज, मेन बाजार ,अली हसन, बंबा चौक में डोर टू डोर जांच की।

दरअसल, खाद्य रसद विभाग की साइट लक्ष्य पूर्ण होने पर लाक की गई है। नए राशन कार्ड के लिए आवेदन काफी संख्या में हो रहे हैं। अंत्योदय व राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लक्ष्य निर्धारित है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा में निकाय में 64 फीसद से अधिक राशन कार्ड नहीं बन सकते हैं। नए पात्र का तभी राशन कार्ड बन सकता है ,जब अंत्योदय कार्ड निरस्त हो जाए। काफी अपात्र राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा व अंत्योदय योजना का लाभ उठा रहे हैं। कई वर्ष पूर्व हुई जांच में काफी संख्या में अपात्रों के कार्ड निरस्त किए गए थे।

क्षेत्रीय आपूर्ति अधिकारी संजय सक्सेना ने बताया कि खाद्य रसद विभाग की गठित की टीमों ने निष्पक्षता सेडोर टू डोर पहुंचकर जांच की है। जल्द रिपोर्ट मिल जाने पर अपात्र राशन कार्ड धारकों के राशन कार्ड निरस्त किए जाएंगे और उनके स्थान नए पात्रों के राशन कार्ड बनाए जाएंगे।

Edited By: Jagran