शामली, जेएनएन। मेधावी युवाओं को प्रदेश सरकार आचार संहिता के चलते मेधावी विद्यार्थियों को टैबलेट और स्मार्ट फोन वितरण पर रोक लगा दी है। जिलेभर में लगभग 2250 टैबलेट व स्मार्ट फोन का वितरण होना था। इसके लिए वितरण सामग्री भी उपलब्ध हो गई थी। सभी मेधावियों को मैसेज भेजकर अवगत भी करा दिया था, जिससे मेधावी बहुत खुश थे और बेसब्री से शुभ घड़ी का इंतजार कर रहे थे, लेकिन आचार संहिता ने उनके अरमानों पर पानी फेर दिया। प्रशासन ने वितरण को आए सामान को स्टोर में रखवाकर सील करा दिया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से हाईस्कूल-इंटर के साथ ही आइटीआई और डिग्री कालेजों के मेधावी छात्र-छात्राओं को टैबलेट और स्मार्ट फोन देने की घोषणा की गई थी। लखनऊ में आयोजित टैबलेट वितरण कार्यक्रम में शामली से भी 200 छात्र-छात्राएं लखनऊ गए थे, जिनको वहां स्मार्टफोन का वितरण भी किया था। उसके बाद जिलास्तर पर टैबलेट वितरण के लिए एडीएम संतोष कुमार सिंह को नोडल अधिकारी बनाया गया था। 27 दिसंबर को शहर के सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज में भी हाईस्कूल-इंटर के 22 मेधावियों को टैबलेट और स्मार्ट फोन वितरित किए गए। अन्य कुल 2250 मेधावियों को टैबलेट-स्मार्टफोन का वितरण होना था, लेकिन आचार संहिता लगने के कारण प्रशासन की ओर से इस कार्यक्रम पर रोक लगा दी गई है। टैबलेट वितरण कार्यक्रम पर रोक लगने के बाद स्कूल-कालेजों में भी आचार संहिता का हवाला देते हुए प्राचार्यों की ओर से नोटिस चस्पा किया गया। इसकी खबर के बाद युवा वर्ग मायूस है।

जिले में मेधावी छात्र-छात्राओं को टैबलेट वितरण होने थे,लेकिन आचार संहिता के कारण इस कार्यक्रम पर अभी रोक लगा दी गई है।

-सरदार सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक शामली

Edited By: Jagran