शामली, जागरण टीम। शामली के जलालाबाद के गांव हसनपुर लुहारी में बाईपास मार्ग के दोनों किनारों पर गंदगी के ढेर लगे हुए हैं। दूरसंचार कार्यालय में कर्मचारियों व उपभोक्ताओं का आवागमन गंदगी के ढेरों से फैल रही बदबू से मुश्किल हो रहा है। कुत्ते व कौवे गंदगी को मार्ग पर फैला रहे हैं।

हसनपुर लुहारी का बाईपास मार्ग क्षेत्र के दर्जनों गांव को ही नहीं जोड़ता है। बल्कि जनपद शामली, सहारनपुर के निवासियों के लिए मुजफ्फरनगर आने-जाने के लिए कम दूरी तय करने का मार्ग है। इस मार्ग से दिन रात दोपहिया, चौपाइयां वाहनों के आवागमन के साथ साइकिल व पैदल जाने वाले क्षेत्र के लोग गुजरते हैं। शासन ने सभी ग्राम सभाओं को निर्देशित किया है कि गांव में मार्ग के दोनों किनारों पर गोबर व गंदगी के ढेर उठाकर गांव को साफ सुथरा बनाया जाए। बरसात के मौसम में गंदगी से फैलने वाले संक्रामक व संचारी रोगों पर अंकुश रहेगा।

शासन के निर्देशों का गांव सभा द्वारा उल्लंघन किया जा रहा है। बाईपास मार्ग पर दूरसंचार कार्यालय, आदर्श जनता माध्यमिक विद्यालय, निर्माणाधीन राजकीय इंटर कालेज, पशु अस्पताल मौजूद हैं। शिक्षक, छात्र-छात्राएं पशु पालक, दूरसंचार सेवा से जुड़े ग्राहकों का आवागमन इसी मार्ग से रोजाना हो रहा है। ग्रामीण, ग्राम सभा से गंदगी के ढेर हटवाने की मांग कर चुके हैं। गंदगी के ढेरों से कुत्ते-कौवे गंदगी को मार्ग पर फैला रहे हैं। गंदगी के ढेर से फैल रही बदबू से आसपास निवास करने वाले ग्रामीण व किसान परेशान हैं।

ग्राम सचिव नीरज सैनी ने बताया कि 15 दिन पूर्व जेसीबी लगाकर बाईपास मार्ग पर गंदगी के ढेर हटवाए गए थे। ग्रामीण रात्रि में बाईपास मार्ग के दोनों किनारों पर गंदगी के ढेर लगा देते हैं। गांव में गंदगी के ढेर सड़क किनारे पर न डालने की मुनादी कराई गई है। ग्राम सभा की खलिहान भूमि पर अवैध कब्जा है। ग्राम सभा के पास कूड़ा डालने के लिए भूमि नहीं है।

Edited By: Jagran