जागरण संवाददाता, शामली : गन्ना भुगतान समेत किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) का प्रतिनिधि मंडल शनिवार को जिलाधिकारी से मिला। किसानों ने समस्याओं का जल्द निस्तारण न होने पर आंदोलन के लिए मजबूर होने की चेतावनी दी।

भाकियू पदाधिकारियों ने कहा कि सरकार का आदेश है कि चीनी मिलों में चीनी व अन्य उत्पादों की बिक्री का 85 फीसद पैसा किसानों के खातों में जाना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है। सरकार के आदेशों को हवा में उड़ाया जा रहा है। 14 दिन में गन्ने का भुगतान करने की व्यवस्था भी लागू नहीं हो सकी है। सूत्रों से पता चला है कि मिलें किसानों को पैसा न देकर निजी कार्यों में उपयोग किया जा रहा है, जबकि किसान परेशान है। मांग की कि किसानों को ब्याज समेत जल्द से जल्द भुगतान दिलाया जाए और भुगतान न करने वाली मिलों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसके अलावा बेसहारा पशुओं की समस्या बढ़ती जा रही है। फसलें तो नष्ट हो ही रही हैं, साथ ही पशु लोगों को घायल भी कर रहे हैं। वहीं, ऊर्जा निगम के द्वारा भी किसानों का उत्पीड़न किया जा रहा है। ज्ञापन देने वालों में प्रदेश प्रवक्ता कुलदीप पंवार, जिला उपाध्यक्ष दीपक शर्मा, जिला महामंत्री पुष्पेंद्र निर्वाल, संजीव राठी, योगेंद्र पंवार, नदीम चौहान आदि शामिल रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस