संवाद सूत्र, ¨झझाना : ¨झझाना पुलिस ने दस हजार के इनामी बदमाश को पकड़ने का दावा किया है। पुलिस ने पकड़े गए बदमाश से तमंचे व कारतूस बरामद किए हैं। आरोपी बदमाश पर करीब आधा दर्जन मुकदमे कायम हैं। पुलिस पूछताछ में बदमाश ने बताया कि दिन में खेतों में काम करते थे, जबकि रात में अपने भाइयों के साथ अपराध करते थे। पुलिस पूछताछ में बदमाश ने यह भी स्वीकार किया कि बागपत में एक सिपाही की हत्या में भी शामिल रहा था। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर मुकदमा कायम कर उसका चालान कर दिया।

बुधवार को प्रभारी निरीक्षक ओपी चौधरी ने प्रेसवार्ता कर बताया कि काफी समय से फरार चल रहे दस हजार के इनामी बदमाश को पकड़ने में पुलिस को सफलता मिली है। उन्होंने बताया कि वांछित अपराधियों की धरपकड़ को चलाए गए अभियान में मंगलवार को राजेंद्र पुत्र बिरजा निवासी हरसाना को ऊन रोड से रंगाना जाते समय रास्ते से गिरफ्तार किया गया है। ¨झझाना पुलिस के अनुसार राजेंद्र पर करीब आधा दर्जन मुकद्दमे कायम है। पुलिस पकड़ से काफी समय से राजेंद्र फरार चल रहा था। ओपी चौधरी ने बताया कि पुलिस पूछताछ में राजेंद्र ने भी स्वीकार किया है कि बागपत में एक सिपाही की हत्या में भी शामिल रहा है। इसके अलावा राजेंद्र अपने सगे भाइयों के संग मिलकर दिन में खेतों में काम कर करते थे। रात में बड़ी वारदात को अंजाम देते थे। दिन में खेत में काम करने के कारण किसी की नजरों में नहीं आते थे। पुलिस ने आरोपी राजेंद्र से तमंचे व कारतूस बरामद कर मुकदमा कायम कर जेल भेज दिया।

Posted By: Jagran