शामली, जागरण टीम। भ्रष्टाचार पर अंकुश कैसे लगे। आम लोगों की बात तो छोड़िए, डीएम के आदेशों का भी नगर पालिका पालन नहीं कर रही है। डीएम ने नगर पालिका की दुकानों के आवंटन में हुए घालमेल में संबंधित लिपिक को सस्पेंड करने और चपरासी को गलत तरीके से पदोन्नत करने के मामले में मूल पद पर भेजे जाने के निर्देश दिए थे, लेकिन पालिका प्रशासन ने दोनों ही मामलों में कोई कार्रवाई नहीं की।

चेयरपर्सन ने पालिका की 22 दुकानों का गलत तरीके से आवंटन कर दिया था। इस मामले में पालिका सभासदों ने शिकायत की तो डीएम ने एसडीएम कैराना से मामले की जांच कराई। जांच रिपोर्ट में नियमों का उल्लंघन कर दुकानों का आवंटन किए जाने की पुष्टि हुई। इसके बाद डीएम ने इस मामले में संबंधित लिपिक लक्ष्मण सिंह को सस्पेंड करने तथा विभागीय कार्रवाई के निर्देश दिए थे। डीएम ने इस मामले में चेयरपर्सन अंजना बंसल के वित्तीय अधिकार सीज करने और वित्तीय निर्णय पर रोक लगाने की संस्तुति की थी। इसके अलावा पालिका में चपरासी पद पर तैनात अमित कुमार को गलत तरीके से प्रोन्नत कर लिपिक बनाए जाने की शिकायत ओमप्रकाश शर्मा ने की थी। इसकी जांच के बाद अमित कुमार को मूल पद पर भेजे जाने तथा पालिका को हुई वित्तीय हानि की भरपाई करने के आदेश दिए गए थे। इस मामले में पालिका के चेयरपर्सन और ईओ के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए गए थे। पालिका प्रशासन का रवैया

22 दुकानों के आवंटन के मामले में ईओ सुरेंद्र यादव ने तीन अगस्त को चेयरपर्सन को पत्र लिखकर लक्ष्मण सिंह को निलंबित करने की संस्तुति की। इसके जवाब में सात अगस्त को चेयरपर्सन ने पत्र लिखा कि लक्ष्मण सिंह पर लगाए गए आरोप निराधार हैं। लक्ष्मण सिंह ने उनके कहने पर यह कार्रवाई की। इसके लिए नियमों का हवाला भी दिया गया। चेयरपर्सन ने लक्ष्मण सिंह का बचाव किया। डीएम के आदेश के बाद ईओ सुरेंद्र यादव ने 18 अगस्त को लक्ष्मण सिंह को सस्पेंड करने के लिए चेयरपर्सन को पत्र लिखा, लेकिन चेयरपर्सन ने आरोपों को निराधार बताते हुए कार्रवाई से मना कर दिया। दूसरी ओर अमित की प्रोन्नति के मामले में चेयरपर्सन ने लिखा कि उन्हें नियमों की कोई जानकारी नहीं थी। इस संबंध में ईओ ने पत्रावली तैयार की और उनके पास लाए। इसलिए उन्होंने भी हस्ताक्षर कर दिए। इनका कहना है

डीएम का आदेश आने के बाद लक्ष्मण सिंह को निलंबित करने की संस्तुति करते हुए चेयरपर्सन को पत्र लिख दिया था। इस मामले में कार्रवाई चेयरपर्सन को ही करनी है।

सुरेंद्र यादव, ईओ दुकानों के आंवटन के मामले में कमिश्नर सहारनपुर से दोबारा जांच कराने की मांग की गई है। प्रोन्नत किए गए अमित कुमार को जल्द ही वापस उनके मूल पद पर भेज दिया जाएगा।

अंजना बंसल, चेयरपर्सन

Edited By: Jagran