शामली: जेएनएन: बकाया गन्ना भुगतान और किसानों पर पराली व पत्ती जलाने को लेकर किए मुकदमों को वापिस कराने को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट में पुरजोर तरीके से आवाज बुलंद की। कांग्रेसियों ने किसानों से जुड़ी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री को संबोधित 10 सूत्रीय ज्ञापन भी उप जिलाधिकारी संदीप कुमार को सौंपा। उन्होंने साफ किया कि किसानों का उत्पीड़न व शोषण हुआ तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

बुधवार को कांग्रेसियों ने कलक्ट्रेट परिसर में पहुंचकर धरना प्रदर्शन किया। कांग्रेस जिलाध्यक्ष दीपक सैनी के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी करते हुए किसानों का उत्पीड़न बंद कराने की मांग उठाई। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष दीपक सैनी ने कहा कि प्रदेश में किसानों की समस्याएं बढ़ती जा रही है, सरकार किसानों पर कोई ध्यान नहीं दे रही है। गन्ना भुगतान न होने से किसानों के बच्चे शिक्षा से वंचित हो रहे है। उन्होंने कहा कि किसान तपती धूप में अनी फसल को तैयार करता है लेकिन मिल मालिक एसी में बैठकर किसान की फसल से मजा करते है। लेकिन अब किसानों के साथ ही मिल मालिकों को धूप में बैठना पड़ेगा। किसानों से जुड़ी 10 सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसडीएम संदीप कुमार को सौंपा गया। ज्ञापन देने वालों में आकाश कुमार गोयल, लोकेश कटारिया, वीरपाल सिंह, आशीष बालियान, धीरज उपाध्याय, नरेंद्र मलिक, मुनेश देवी, हरीश चोधरी, पंकज शर्मा, चौ. राजपाल सिंह एडवोकेट, अरविद झंझोट, प्रतीक अग्रवाल, चेतना राय, प्रमोद कश्यप, योगेश, प्रदीप राठी आदि शामिल रहे।

ये रही कांग्रेस की प्रमुख मांगें

- किसानों का गन्ना बकाया भुगतान जल्द किया जाए।

- गन्ने का समर्थन मूल्य 450 रुपये किया जाए।

- पुराली व गन्ने की पत्ती का सरकार निस्तारण कराए।

- किसानों पर पराली जलाने के मुकदमें वापिस किए जाए।

- गन्ना पर्ची में हो रही धांधली को तुरंत बंद कराया जाए।

- प्रधानमंत्री किसान योजना का पैसा नहीं मिल रहा व दिलाए।

- बीज व खाद समय पर किसानों को दिलाना सुनिश्चित किया जाए।

- नहरों की खुदाई नहीं होने से किसानों की फसल में पानी देने की परेशानी दूर हो।

- मिल धीमी गति से चल रहे है, गेहूं की फसल प्रभावित हो रही है, इसे दुरूस्त करें।

- किसानों का गन्ना मिल मालिक खुद खेत से उठाए व नगद भुगतान की व्यवस्था हो।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस