शामली, जागरण टीम। जिले की ढेवा बस्ती में इस बार नवमी के दिन अलग ही नजारा देखने को मिला। सुबह से ही बस्ती की बालिकाओं में चहल-पहल देखते ही बन रही थी, अपर जिलाधिकारी अरविद कुमार सिंह एवं उनकी पत्नी वरुनिका सिंह ने कन्याओं को खुद अपने हाथों से उपहार बांटकर कन्या पूजन किया। एडीएम व उनकी पत्नी ने पूरी बस्ती की 110 कन्याओं को उपहार दिए। इसमें बच्चियों के लिए भोजन की डलिया, चुनरी, श्रंगार का सामान आदि था। एडीएम ने शिक्षा, परवरिश आदि की जानकारी भी ली। बस्ती के लोगों ने इस दौरान एडीएम के समक्ष कुछ समस्याएं रखी। इस पर एडीएम ने इस ओर जांच कराकर त्वरित कार्रवाई का भरोसा भी दिलाया। एडीएम ने इस बाबत कहा कि अक्सर कन्याओं को घर बुलाकर तो भोजन खिला देते हैं, लेकिन ऐसी बस्तियों की कन्याओं को भी उपहार देकर पर्व मनाया जा सकता है। असल मायनों में पर्वों का महत्व यही है कि हम मिलजुलकर ऐसे परिवारों में शरीक होकर त्योहार मनाएं। सांझी विसर्जन से पूर्व निकाली शोभायात्रा

संवाद सूत्र, कैराना : नगर में श्रद्धा के साथ सांझी विसर्जन शोभायात्रा निकाली गई। इस दौरान पुलिस बल मौजूद रहा।

गुरुवार को नगर में सांझी विसर्जन शोभायात्रा का आयोजन किया गया। शोभायात्रा बनखंडी मंदिर रोड, टीचर्स कॉलोनी, मुख्य मार्ग व चौक बाजार आदि स्थानों से होकर निकाली गई। नवरात्र के बाद घरों में लगाई गई माता की सांझी को नगर भ्रमण के उपरांत भक्ति भावना के साथ शामली में पूर्वी यमुना नहर में विसर्जन किया गया। इस दौरान समिति के पदाधिकारियों ने भव्य शोभायात्रा का आयोजन किया गया। इस दौरान सीओ कैराना जितेंद्र कुमार व कोतवाली प्रभारी निरीक्षक प्रेमवीर सिंह राणा सुरक्षा के दृष्टिगत पुलिस व पीएसी बल के साथ अलर्ट दिखाई दिए।

संवाद सूत्र, ऊन : कस्बा ऊन में धार्मिक जागरण समिति द्वारा सांझी का विसर्जन कराया गया। इसके लिए प्रात: काल से ही संस्था द्वारा प्रमुख चौराहों पर सांझी के लिए वाहन खड़े कर दिए गए थे। इनके भर जाने के बाद संस्था द्वारा ढोल नगाडों के साथ पूरे कस्बे की परिक्रमा की गई। उसके बाद संस्था के सदस्य वाहनों को लेकर गंदेवड़ा के लिए रवाना हुए। इस मौके पर समिति के सदस्य विजय गर्ग, अजय, प्रमोद, उमेश भार्गव आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran