जेएनएन, शाहजहांपुर : चुनाव सिर्फ जीत के लिए ही नहीं चर्चा में बने रहने के लिए भी लड़ा जाता है। अनोखे अंदाज में प्रचार के लिए प्रसिद्ध वैद्यराज किशन को लोग सबसे बड़े लड़ैया के रूप में जानने लगे है। 48 साल से चुनाव लड़ रहे किशन इस बार जीवन का 19वां चुनाव लड़ेंगे। वह भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व वित्त मंत्री सुरेश खन्ना के खिलाफ। संयुक्त विकास पार्टी ने उन्हें अपना प्रत्याशी भी घोषित कर दिया है।

मुहल्ला हुंडाल खेल निवासी किशन को लोग फिल्मों के प्रचारक के रूप में जानते थे। कई तरह की आवाज में प्रचार की वजह से उनकी अलग पहचान थी। अब उनकी पहचान सबसे ज्यादा चुनाव लड़ने वाले नेता के रूप में होने लगी है। दरअसल किशन अब तक नगर पालिका सदस्य, नगर पालिकाध्यक्ष, विधानसभा, लोकसभा तथा विधान परिषद सदस्य का चुनाव लड़ चुके हैं। हर बार उनकी जमानत जब्त हुई, लेकिन मीडिया की सुर्खियों में बने रहे। इस बार उन्होंने शाहजहांपुर के अलावा कैंपियरगंज में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनाव का एलान किया है।

अनिल ने दिया भाजपा से इस्तीफा

संस, जलालाबाद : भाजपा से टिकट के दावेदार रहे अनिल वर्मा ने पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। वह सपा में शामिल हो सकते हैं। वर्मा ने रविवार को अपनी फेसबुक वाल पर पोस्ट के जरिए इस्तीफे की जानकारी दी। हालांकि अनिल ने अभी यह स्पष्ट नहीं किया है कि वे किस दल में शामिल होंगे। भाजपा नगर अध्यक्ष आशुतोष गुप्ता ने बताया कि अनिल वर्मा का मोबाइल बंद है। वह अभियान के दौरान भाजपा के सदस्य बने थे।

Edited By: Jagran