जेएनएन, शाहजहांपुर : रामजन्मभूमि आंदोलन के दौरान आत्मदाह करने वाली छात्रा का नाम काकुत्स्थ समाज के लोगों ने अयोध्या में दर्ज कराने की मांग की है। मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में समाज के लालू पुजारी ने बताया कि 1990 में फैक्ट्री इस्टेट की डबल स्टोरी कालोनी निवासी बबिता सक्सेना ने अयोध्या में कारसेवकों पर गोली चलाए जाने से आहत होकर अपने ऊपर केरोसिन डालकर आग लगा ली थी। अस्पताल में वह रामभक्तों के लिए स्वयं को बलिदान करने की बात कह रही थी। सुसाइड नोट में उसने निहत्थे कारसेवकों पर कार्रवाई के विरोध में यह कदम उठाने की बात लिखी थी। हालांकि तत्कालीन डीएम व एसपी ने घटना का कारण पारिवारिक कलह बतायी थी। मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में लालू पुजारी ने बबिता के नाम शहर में चौराहा बनाने की भी मांग की। उसकी याद में पांच अगस्त को घरों में दीये जलाने की भी अपील की है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस