शाहजहांपुर : खाद्यान वितरण में पारदर्शिता लाने के पूर्ति विभाग बेहद गंभीर है लेकिन फिर भी वितरक मनमानी करने से बाज नहीं आ रहे है। ऐसा ही एक मामला ¨सधौली क्षेत्र के पैना बुजुर्ग गांव में सामने है। यहां जांच करने पहुंचे उप्र राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष नंद किशोर यादव, सदस्य सरोज प्रसाद व उपायुक्त बरेली मंडल बरेली राजन गोयल ने पकड़ा। गांव में सरकारी दुकान एक घर के अंदर संचालित होते मिली। यहीं नहीं कांटा-बांट भी बिना प्रमाणित वाला मिला। जिस पर अध्यक्ष ने कड़ी नाराजगी जताई। उन्होंने प्रभारी डीएसओ वेदप्रकाश को मामले की जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए। इसके बाद टीम विकासखंड भावलखेड़ा के रेती रोड स्थित गोदाम पर भी जांच करने पहुंची। हथौड़ा, अहमदपुर, रेती के प्राथमिक, जूनियर, और आंगनबाड़ी केंद्रों का भी निरीक्षण किया। इसके बाद रोजा मंडी गेस्ट हाउस में पूर्ति विभाग, जिला बाल विकास परियोजनाअधिकारी, बेसिक शिक्षा अधिकारी आदि के साथ मी¨टग की। उन्होंने सरकार की योजनाओं को समय पर क्रियान्वित करने के निर्देश दिए साथ ही रोजाना के हिसाब से पात्र और अपात्र में हो रहे बदलाव पर कड़ी निगरानी रखने के लिए भी अधिकारियों से कहा।

------

जल्द लग जाएंगी ई-पॉश मशीन

पूर्ति विभाग शहर के बाद अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी ई-पॉश मशीन लगाने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए सभी वितरकों को प्रशिक्षित भी किया जा चुका है। आयोग के अध्यक्ष ने बताया कि दिसंबर माह के आखिर तक सभी जगह मशीनें पहुंचने की उम्मीद है। ऐसा होने से खाद्यान्न वितरण में धांधली पूरी तरह से बंद हो जाएगी। ------- मीडिया से मुखातिब हुए राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष नंदकिशोर यादव ने कहा प्रदेश के अधिकतर जिलों में छापेमारी व निरीक्षण हो चुका है। अन्य जिलों के मुकाबले शाहजहांपुर की स्थिति फिर भी संतोषजनक है। उन्होंने कहा कि खाद्यान्न वितरण प्रणाली के तहत किसी गरीब व्यक्ति को भूखे न सोए इसके लिए लगातार प्रयास किए जा रहे है। उन्होंने कहा यदि किसी पात्र को खाद्यान्न समय से नहीं मिल रहा है तो संबंधित अधिकारी भी दोषी होंगे। उन्होंने यदि कोई अपात्र सरकार की योजनाओं का अभी तक लाभ ले रहा है तो उससे पूरी वसूली कराई जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस