जेएनएन, शाहजहांपुर : नल मिस्त्री की हत्या करने वाले मुख्य आरोपित को पुलिस ने बुधवार सुबह गिरफ्तार कर लिया है। उसके पास से तमंचा व कारतूस भी बरामद हुआ है। हत्यारोपित ने पुलिस को बताया कि एक साल पहले दिल्ली में उसके भाई की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। मौत का जिम्मेदार वह आशीष कुशवाहा को मान रहा था। इसीलिए उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपित को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है।

निगोही क्षेत्र के हरदयाल नगर गांव निवासी आशीष कुमार कुशवाहा नल मिस्त्री थे। मंगलवार सुबह वह ऊनखुर्द गांव के प्राथमिक विद्यालय में नल लगाने के लिए अपने मामा मोरतला गांव निवासी अशोक कुमार के साथ बाइक से जा रहे थे। लिफ्ट मांगकर बाइक पर बैठे गांव के ही रामकृपाल ने रास्ते में उसकी गोली मारकर हत्या कर दी थी। मृतक के पिता जयसिंह ने रामकृपाल उसके पिता कालिका प्रसाद व भाई संजय के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने बुधवार को क्षेत्र के ही धुल्लिया गांव की मोड़ के पास से रामकृपाल को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपित ने बताया कि उसका दूसरे नंबर का भाई अजय उर्फ छोटे एक साल पहले आशीष व उसके मामा अशोक के साथ दिल्ली मजदूरी करने गया था। जहां अजय की मौत हो गई थी। उसे शक था कि आशीष ने अपने मामा के साथ मिलकर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। इसी शक की वजह से वह एक साल से बदला लेने की फिराक में था। वहीं पुलिस फरार चल रहे दो अन्य आरोपितों की तलाश में दबिश दे रही है।

किसी को शक न हो इसलिए शुरू कर दी थी बोलचाल

स्वजन व ग्रामीणों ने अजय की मौत बीमारी से होने की बात कहते हुए रामकृपाल को एक साल पहले कार्रवाई करने से रोक दिया था। लेकिन रामकृपाल मन ही मन उनसे रंजिश मान रहा था। दिखावे के लिए उसने तीन-चार माह से आशीष से बोल-चाल शुरू कर दी थी।

वर्जन

फरार चल रहे दो अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए भी दबिशें दी जा रही है। जल्द उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

संजय कुमार, एएसपी सिटी

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप