जेएनएन, खुटार, शाहजहांपुर : जंपिग झूला पर कूदते समय सिर के बल गिरने से राजमिस्त्री गंभीर रूप से घायल हो गया। उसको एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने जवाब दे दिया। परिजन उसको लखनऊ मेडिकल कॉलेज ले जा रहे थे। तभी रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। सप्ताह पूर्व जलालाबाद में भी जंपिग झूला से गिरकर एक युवक की मौत हो गई थी।

कस्बा के मुहल्ला बगियानाथ निवासी 40 वर्षीय वीरेंद्र शनिवार रात में रामलीला देखने गए थे। वहां जंपिग झूले पर चढ़ गए और कूदने लगे। इसी दौरान वह अनियंत्रित हो गए और सिर के बल झूले में गिरे। वह जोर-जोर से चीखने लगे। उनके परिजन मौके पर पहुंच गए। उनको कस्बा के एक निजी चिकित्सक के पास ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने लखनऊ मेडिकल ले जाने की सलाह दी। परिजन सुबह उनको लेकर लखनऊ जा रहे थे। रास्ते में करीब नौ बजे लखीमपुर खीरी पहुंचने से पहले उन्होंने दम तोड़ दिया। वीरेंद्र राजमिस्त्री का काम करके परिवार का पालन पोषण करते थे। उनकी मौत से पत्नी नन्ही बदहवास हो गई हैं। मृतक के 22 वर्षीय बेटा आशीष, सौरभ, प्रियांशु व बेटी नीतू और नेहा का हैं। झूले वाला रात में ही झूला उखाड़कर भाग गया। परिजनों ने थाने में कोई तहरीर नहीं दी है।

-----------

जलालाबाद में भी हुई थी युवक की मौत

गत सप्ताह पहले जंपिग झूला में कूदते समय जलालाबाद के मुहल्ला गांधीनगर निवासी 20 वर्षीय राहुल भी सिर के बल गिर गए थे। गंभीर चोट आने पर परिजन इलाज को बरेली ले गए। फायदा न होने पर दिल्ली में भर्ती कराया गया। नौ अक्टूबर को दिल्ली के एक निजी अस्पताल में राहुल ने दम तोड़ दिया था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप