जेएनएन, शाहजहांपुर : यह अन्नदाता है। पहले नमी के बहाने परेशान हुए। अब धान तौल के लिए नंबर का इंतजार करना पड़ रहा है। कोई आठ दिन से मंडी में टिका, तो कइयों का 15 दिन बाद भी नंबर नहीं आया, भोजन से लेकर सोना तक ट्रैक्टर-ट्रॉली पर ही हो रहा। प्रति किसान 50 क्विंटल धान खरीद की व्यवस्था के बावजूद किसानों को आठ नंवबर तक का टोकन मिला है।

गुरुवार दोपहर जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह भी व्यवस्था से रूबरू हुए। दरअसल मंडी में प्रमुख सचिव के निरीक्षण के दौरान डीएम, भाइयों के साथ खाना खा रहे दमदौर के किसान अवतार सिंह से मुखातिब हुए। अवतार सिंह बोले 15 दिन से मंडी समिति ही उनका ठिकाना बना हुआ है। इतंजार बढ़ता ही जा रहा है, लेकिन धान नहीं बिक रहा। यह घटनाक्रम है पूर्वाह्न 11.26 बजे का। इससे पूर्व 11:15 बजे प्रमुख सचिव जितेंद्र कुमार डीएम के साथ रोजा मंडी के आरएफसी तृतीय केंद्र पहुंचे। सरदार अतर सिंह के धान की तौल हो रही थी। केंद्र प्रभारी तैयब खान ने डीएम को किसानों को टोकन प्रतीक्षा सूची दिखाई। जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी कुमार कमलेश ने बताया कि यह केंद्र मंसूरपुर में संचालित था, जिसे दो दिन पहले ही मंडी में स्थापित किया गया।

11:17 बजे आरएफसी प्रथम पर डीएम व प्रमुख सचिव के पहुंचने पर केंद्र प्रभारी सर्वजीत पांडेय के चेहरे की हवाइयां उड़ गई। यहां गुलामखेड़ा के किसान वेदराम ने लेखपाल की ओर से किए गए सत्यापन की जानकारी दी।

समय 11:20 मंडी समिति के क्रय केंद्र पर तौल हो रही थी। किसान कतार में थे। बाहर धान के ढेर लगे थे।

घबराओ नहीं, बटाईदार भी तौल करा सकता

11:21 बजे भारतीय खाद्य निगम के क्रय केंद्र पर अकर्रा रसूलपुर के किसान वेद प्रकाश के नाम से धान की तौल हो रही थी। डीएम के पहुंचने पर बटाईदार घबरा गया। डीएम बोले घबराओ नहीं, बटाईदार भी लेखपाल के सत्यापन के बाद तौल करा सकता है।

बंद करो तौल दूसरे किसान का नंबर लगाओ

मंडी में केंद्र प्रभारी की मनमानी की पोल खुल गई। प्रभारी ने जिस किसान का बुधवार को 50 क्विंटल धान तौला, दूसरे दिन भी उसेसे ही शुरुआत कर दी। डीएम ने केंद्र प्रभारी को फटकार लगाते हुए तौल बंद करा दी। दूसरे किसान का नंबर लगवाया।

केंद्र प्रभारी के लाइन लोकेशन बताएं

समय 11:32 बजे नैफेड के क्रय केंद्र पर किसानों की भीड़ थी। फिजिकल डिस्टेंसिंग गायब थी। अधिकारियों को देख किसान अगल-बगल हो गए। भटपुरा रसूलपुर गांव के मुकीम के धान की तौल हो रही थी। रक्शा गांव निवासी किसान राजवीर ने शिकायत की कोटवारी गांव के पीसीयू केंद्र पर धान की खरीद नहीं हो रही है। डीएम ने एडीएम वित्त एवं राजस्व गिरिजेश चौधरी, पीसीयू के जिला प्रबंधक दिनेश कुमार को केंद्र प्रभारी की लाइव लोकेशन तथा खरीद की डिटेल के निर्देश दिए।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021